कम्युनिस्टों से खफा-खफा बापू !    कोजी कोजी ठंड !    उलट सियासी विचार वाले साथी संग दो पल !    डाकिया थनप्पा खुशी बांचता गम छिपाता !    मैं हूं मीरा !    स्ट्रीट फूड बनारस का !    भारतीय जवान को पाक ने साढ़े 3 माह बाद छोड़ा !    लिव-इन-रिलेशनशिप में दिक्कत नहीं !    खबर है कि !    हल्दी का सीन करते नम हुई आंखें !    

डीएसपी की गवाही को लेकर नहीं हो सकी ज़िरह

Posted On April - 23 - 2013

हिसार, 23 अप्रैल (हप्र)। डाबड़ा सामूहिक दुष्कर्म मामले की सुनवाई मंगलवार को भैरी अकबरपुर सामूहिक आत्महत्या मामले के कारण टल गई और मामले के जांच अधिकारी डीएसपी विनोद कुमार की गवाही पर सवाल जवाब नहीं हो पाए। अब मामले की सुनवाई बृहस्पतिवार को होगी।
मामले के अनुसार मंगलवार को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश मधु खन्ना लाली की अदालत में मामले के अहम गवाह डीएसपी विनोद चालिया की गवाही पर फिर से क्रास बहस होनी थी, लेकिन भैरी अकबरपुर गांव के मामले में डीएसपी विनोद कुमार की ड्यूटी रोहतक में होने के कारण वे मंगलवार को अदालत में पेश नहीं हो पाए। इसके लिए उन्होंने अदालत में लिखित प्रार्थना-पत्र भी सौंप दिया था। बुधवार को महाबीर जयंती का अवकाश घोषित होने के कारण अब मामले की अगली सुनवाई बृहस्पतिवार को करने का निर्णय लिया।
इससे पूर्व गत 15 अप्रैल को लीगल एड की महिला अधिवक्ता अनामिका गुप्ता ने बचाव पक्ष की तरफ से अपनी गवाही दर्ज करवाई थी। अनामिका गुप्ता ने पीडि़त लड़की के सदर थाना में बयान दर्ज किए थे। इससे पूर्व मामले के आरोपियों की 2 अप्रैल की सुनवाई के दौरान गवाहियां दर्ज की गई थीं।
उल्लेखनीय है कि इस मामले में पुलिस ने कुल 38 गवाह बनाए हुए थे व गत 16 जनवरी को पुलिस ने इस मामले के दस आरोपियों पर आरोप तय किए थे। डाबड़ा गांव के बलजीत उर्फ शीटू, अनिल, महेंद्र, विकास उर्फ डाकू, राजकुमार उर्फ राजू, पवन, कुलदीप व मंगाली गांव निवासी सुनील पर सामुहिक दुष्कर्म करने, अपहरण करने, जान से मारने की धमकी देने और एससीएसटी एक्ट के तहत आरोप तय किए हैं, वहीं सुल्तानपुर गांव निवासी सुरेश व थुआ गांव निवासी राजेश पर आरोपियों के शरण देने के तहत आरोप तय किए गए हैं।


Comments Off on डीएसपी की गवाही को लेकर नहीं हो सकी ज़िरह
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.