कार खाई में गिरने से 3 की मौत !    डीजे पर झगड़ा, दूल्हे के भाई की मौत !    तेजाब हमला नाबालिग बेटियों समेत पिता घायल !    गंभीर आरोप, नहीं मिलेगी जमानत !    प्रशिक्षकों को देंगे 15 लाख का इनाम !    पानीपत में आज फिर होगी बात !    अब भाजपा को रोशन करेंगे 'रवि' !    शराब के लिए पैसे नहीं दिए तो मां को मार डाला !    ‘आवेदन मांगे पर नहीं किए हिंदी शिक्षकों के तबादले’ !    नितिन बने चैंपियन !    

नहीं पहुंचे आनंद शर्मा, मोतीलाल वोहरा

Posted On November - 23 - 2013

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस

शिमला में शनिवार को जिला अदालत में जाते हुये पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल। - दैनिक ट्रिब्यून

शिमला, 23 नवंबर। पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल द्वारा किए गए आपराधिक मानहानि के दावे को लेकर अदालत में चल रहे मामले में केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मोतीलाल वोहरा के अदालत में उपस्थित न होने के कारण आज दोनों पक्षों के बीच समझौता नहीं हो सका। अदालत ने समझौते के लिए इस मामले को आज लोक अदालत में लगाया था। लेकिन सुनवाई के दौरान केवल प्रो. धूमल ही अपने वकीलों के साथ अदालत में पेश हुए। आनंद शर्मा और मोतीलाल वोहरा न तो खुद आए और न ही उन्होंने अपने वकील ही भेजे। अदालत ने इस मामले में अब अगली तारीख 21 दिसंबर निर्धारित की है।
पिछले 11 सालों से चल रहे इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री धूमल का पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के साथ समझौता हो चुका है। लोक अदालत में अगर आज आनंद शर्मा और मोतीलाल वोहरा उपस्थित हो जाते तो इनके साथ भी समझौता हो सकता था। धूमल का कहना था कि अगर कै. अमरेंद्र सिंह की तरह ही ये दोनों भी अपने आरोप वापस ले लेते हैं और माफी मांग लेते हैं तो उन्हें मुकदमे को वापस लेने में कोई आपत्ति नहीं है।
गौरतलब है कि धूमल ने आनंद शर्मा, मोतीलाल वोहरा और कैप्टन अमरेंद्र सिंह के खिलाफ सन् 2002 में मानहानि का दावा किया था। इन तीनों ने धूमल पर भ्रष्टाचार से करोड़ों की सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया था। कैप्टन अमरेंद्र सिंह और मोतीलाल वोहरा ने 2 फरवरी, 2002 को हमीरपुर में आयोजित एक रैली में आरोप लगाए थे जबकि आनंद शर्मा ने सोलन जिले के बड़ोग में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन में यह आरोप लगाए थे। धूमल द्वारा तीनों कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ किया गया यह मामला शिमला के मुख्य दंडाधिकारी की अदालत में चल रहा है। यह मुकदमा अब अंतिम चरण पर है। माना जा रहा है कि एक-दो पेशियों के बाद ही अदालत अब इस मामले में अपना फैसला सुना सकती है।
लोक अदालत में भाग लेने पहुंचे धूमल ने आज यहां कहा कि उनके ऊपर लगाए गए सभी आरोप झूठे और बेबुनियाद थे। यही वजह रही कि कै. अमरेंद्र सिंह ने अपने आपको इन आरोपों से अलग कर लिया। उन्होंने कहा कि यदि आनंद शर्मा और मोती लाल वोहरा भी माफी मांग लेते तो उनके खिलाफ भी मुकदमे को वापस लेने में हमें कोई आपत्ति नहीं है।
धूमल की तरफ से आज अदालत में पेश हुए वकील सतपाल जैन का भी यही कहना था कि अगर अगली पेशी में भी आनंद शर्मा और मोती लाल वोहरा माफी मांगते हैं तो उनके खिलाफ किए गए मुकदमे को वापस लिया जा सकता है। लेकिन यदि वे ऐसा नहीं करते तो अदालत इसमें अपना निर्णय सुनाएगी।


Comments Off on नहीं पहुंचे आनंद शर्मा, मोतीलाल वोहरा
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.