जगीर कौर की सजा पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार !    मैं जन्मजात कांग्रेसी, घर वापसी हुई !    सुबह कोहरे की चादर, दिन में बादलों की ओढ़नी !    8 महीने से होमगार्डों को नहीं मिला वेतन !    व्हाट्सएप, फेसबुक को नोटिस !    मीटर जांच कर रही टीम की लाठी-डंडों से धुनाई !    रोहतक में माकपा का प्रदर्शन, रोष सभा भी की !    सिलिकोसिस पीड़ितों का होगा मुफ्त इलाज !    सड़कों पर गूंजा नोटबंदी का विरोध !    अफसर के िवरोध में उतरे चेयरपर्सन, पार्षद !    

उसकी बनायी मूर्तियां बात करती हैं …

Posted On February - 17 - 2014

बद्दी, 16 फरवरी (निस)
बद्दी औद्योगिक क्षेत्र के साथ लगते पहाड़ी क्षेत्र हरीपुर के साथ सटे गांव कंडोल के नराता राम के हाथों का हुनर पत्थर की प्रतिमाओं में जान डाल देता है।  नराता राम के हाथों का हुनर व जुनून को उसके पारिवार के माली हालात भी प्रभावित नही कर सके और जीवन में उसने मूर्तियों को तराशने का सिलसिला जारी रखा और यही वजह है कि आज उसने हिमाचल, पंजाब व हरियाणा में मां शेरांवाली, शिवशंकर, हनुमान, सांई बाबा, भैरोंनाथ, बाबा बालक नाथ आदि अनेक देवी देवताओं की मूर्तियां तराश कर  भेज चुके हैं। नराता राम ने बताया कि पहले वे अपने पिता अमर लाल के साथ  मन्दिर व मकान बनाने का काम करते थे। उन्होंने बताया कि उन्होंने कई मन्दिरों का भी निर्माण किया है लेकिन एकाएक उनके मन में मूर्तियां बनाने का जिज्ञासा पैदा हुई और हाथों की मेहनत के बल पर उसे कामयाबी मिली और एक के बाद एक मूर्तियों को  तराशने का सिलसिला जारी हो गया। आज उसके इस काम में उसके तीन पुत्र भी उसके काम में हाथ बंटा रहे हैं। उसने बताया कि घर की गरीबी व संसाधनों की कमी को उसने अपने हुनर पर भारी नहीं पडऩे दिया।
बस एक दी रंज : उन्हें बस एक ही रंज है कि उनके हुनर को भले ही  स्थानीय लोगों और बाहरी प्रदेशों में सराहना मिली है लेकिन प्रदेश सरकार ने उनकी कला को कोई सम्मान नहीं दिया है। अगर सरकार उनकी कला को परखे तो वे धरोहरों को सहेजने में सरकार को सहयोग दे सकते हैं।


Comments Off on उसकी बनायी मूर्तियां बात करती हैं …
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.