जगीर कौर की सजा पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार !    मैं जन्मजात कांग्रेसी, घर वापसी हुई !    सुबह कोहरे की चादर, दिन में बादलों की ओढ़नी !    8 महीने से होमगार्डों को नहीं मिला वेतन !    व्हाट्सएप, फेसबुक को नोटिस !    मीटर जांच कर रही टीम की लाठी-डंडों से धुनाई !    रोहतक में माकपा का प्रदर्शन, रोष सभा भी की !    सिलिकोसिस पीड़ितों का होगा मुफ्त इलाज !    सड़कों पर गूंजा नोटबंदी का विरोध !    अफसर के िवरोध में उतरे चेयरपर्सन, पार्षद !    

बदलापुर: हीरो नहीं, विलेन ज्यादा हिट

Posted On February - 21 - 2015

बाॅलीवुड में कुछ फिल्में ऐसी आती हैं, जिसमें दर्शकों को हीरो से ज्यादा विलेन का काम पसंद आता है। ऐसी फिल्मों की सूची में बदलापुर का नाम लेना सही रहेगा, जिसमें हीरो तो वरुण धवन हैं, पर जब  फिल्म देखेंगे, तो विलेन यानी नवाजुद्दीन सिद्दीकी का काम ज्यादा पसंद आएगा।
फिल्म की कहानी है एडवर्टाइजिंग एजेंसी में काम करने वाले रघु(वरुण धवन) की। एक सुबह रघु की पत्नी (यामी गौतम) और बेटा  रॉबिन घर से बाहर निकलते हैं, तभी बैंक में डकैती करके भाग रहे दो बदमाश लाईक (नवाजुद्दीन  सिद्दीकी) और हरमन (विनय पाठक) उनकी गाड़ी में जबरदस्ती बैठ जाते हैं। लाईक रघु के बटे को गाड़ी से फेंक देता है, उसकी पत्नी को गोली मार देता है। फिर बीच में एक मोड़ पर वो लूट की रकम के साथ हरमन को उतार देता है। पुलिस लाईक को पकड़ती है, मगर वह पुलिस से कहता है कि गोली उसने नहीं बल्कि उसके साथी ने मारी है। लेकिन   वह हरमन का नाम नहीं बताता। यहां से कहानी शुरू होती है और रघु के बदले की शुरूआत भी होती है। लाईक को 20 साल की सजा होती है। कहानी 15 साल की है और इस दरम्यान इसमें कई किरदार और आते हैं।  धवन ने इस फिल्म में  दिखाया है कि उसके अंदर एक्टर है और 25 साल के खुशमिजाज लड़के से लेकर 40 साल के व्यक्ति के किरदार में उसने बढ़िया अभिनय किया है। वह बदला लेना चाहता है, लेकिन अस्सी के दशक के हीरो की तरह डायलाॅग नहीं मारता है और न ही चीखता-चिल्लाता है। लेकिन आंखों में गुस्सा दिखाता है। नवाजुद्दीन की जितनी तारीफ की जाए, कम है। एक शातिर और चालाक क्रिमिनल के रूप में उन्होंने बेहतरीन अदाकारी दिखाई है। यामी गौतम के पास करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं था, लेकिन उन्होंने प्रयास किया है।  कुल मिलाकर  123 मिनट की फिल्म देखकर दर्शकों को भी मजा आएगा।    -धर्मपाल


Comments Off on बदलापुर: हीरो नहीं, विलेन ज्यादा हिट
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.