कार खाई में गिरने से 3 की मौत !    डीजे पर झगड़ा, दूल्हे के भाई की मौत !    तेजाब हमला नाबालिग बेटियों समेत पिता घायल !    गंभीर आरोप, नहीं मिलेगी जमानत !    प्रशिक्षकों को देंगे 15 लाख का इनाम !    पानीपत में आज फिर होगी बात !    अब भाजपा को रोशन करेंगे 'रवि' !    शराब के लिए पैसे नहीं दिए तो मां को मार डाला !    ‘आवेदन मांगे पर नहीं किए हिंदी शिक्षकों के तबादले’ !    नितिन बने चैंपियन !    

घोस्ट हंटिंग गैजेट्स जो देंगे भूत के सबूत

Posted On August - 8 - 2016

10408cd _peranormalभूत है या नहीं यह सदियों से बहस का मुद्दा है। कोई कुछ भी कहे, हमारे समाज में इन पर विश्वास और अविश्वास की कई कहानियां हैं। रहस्य और रोमांच के इस खेल को समझने के लिये, उन पर  रिसर्च के लिये कई पैरानॉर्मल संस्थाएं काम भी काम कर रही हैं। खास बात यह है कि पुराने जमाने की तरह यह इंस्ट्ीट्यूट किसी ओझा या तांत्रिक के भरोसे आगे नहीं बढ़ रहे हैं बल्कि इनकी खोज का आधार हैं अत्याधुनिक गैजेट्स।  भारत में करीब 10 मान्यता प्राप्त पैरानॉर्मल सोसायटीज हैं, जो भूतों से बात करने और उनके रहस्य सुलझाने का दावा करती हैं। कुछ खास वैज्ञानिक उपकरणों की मदद से इनके सदस्य भूतिया स्थानों की आर्द्रता और नमी का पता लगाकर, वहां हो रही पारलौकिक गतिविधियों को कैमरे और ऑडियो में कैद कर लेते हैं। ऐसे ही गैजेट्स और उपकरणों की मदद से ‘टीम पेनटेकल’ ने हाल ही में गोवा के जंगलों में कुछ भूूतिया आवाजों को सुना और उन पैरालॉकिक ताकतों को रिकॉर्ड भी किया है।
हम आपकों बताएंगे कुछ ऐसे ही गैजेट्स के बारे में, जो पैरानॉर्मल सोसायटीज के सदस्यों द्वारा भूत-प्रेत और आत्माओं का पता लगाने के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं।

डिजिटल रिकॉर्डर
इसका छोटा नाम ईवीपी (EVP) है। पैरानॉर्मल इन्वेस्टिगेटर इसे ऐसी जगहों पर रहस्यमयी आवाजें सुनने के लिए इस्तेमाल करते हैं। कई इन्वेस्टिगेटर्स का मानना है कि इस डिजिटल रिकॉर्डर की आवाज से आत्माओं को फॉलो किया जा सकता है।

मोशन डिटेक्टर
साधारण आंखों से न देखी जा सकने वाली आकृतियों को देखने के लिए कुछ घोस्ट इन्वेस्टिगेटर्स मोशन डिटेक्टर या मोशन सेंसर का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस उपकरण से ऐसी शक्तियों का आसानी से पता चल जाता है। मोशन सेंसर्स बहुत सेंसिटिव मूवमेंट्स को भी आसानी से ट्रैक कर लेते हैं।

ईएमएफ (इलेक्ट्रोमैग्नेटिव फोर्स) मीटर
यह डिवाइस इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड और आत्माओं की एक्टिविटी का पता करती करती है। पैरानॉर्मल इन्वेस्टिगेटर्स का कहना है कि पारलौकिक शक्तियों में मैग्नेटिक फील्ड को बदलने की ताकत होती है और मैग्नेटिक फील्ड के बदलते ही ईएमएफ मीटर इसे ट्रैक कर लेता है।

कंपास या डाउजिंग रॉड्स
कंपास एक प्राकृतिक ईएमएफ की तरह काम करता है। आसपास अगर कोई आत्मा या पारलौकिक शक्ति हो, तो वह उसी दिशा में मुड़ जाता है।

10408cd _ghost_huntersघोस्ट बॉक्स
घोस्ट बॉक्स या फ्रैंक बॉक्स एक तरह का पोर्टेबल रेडियो है, जिसमें एफ और एमएम बैंड भी कनेक्ट होता है। माना जाता है कि कई रहस्यमयी ताकतें ऑडियो संकेतों की मदद से अपना संदेश देती हैं। इस डिवाइस को डिजिटल रिकॉर्डर की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

मिस्टर घोस्ट
यह एक ईएमएफ (EMF) डिटेक्टर है। इसे स्मार्टफोन के हेडफोन जैक से कनेक्ट घर में पारलौकिक गतिविधि का पता लगाया जा सकता है। दरअसल, यह एक ऐसी डिवाइस है, जो एप्प की मदद से रेडिएशन मापती है। इसे यूज करने के लिए स्मार्टफोन पर ‘मिस्टर घोस्ट ‘ नाम का एप्प डाउनलोड करना होता है । ईएमएफ डिटेक्टर को फोन से कनेक्ट करके उस दिशा में इंगित करना होता है, जहां से भूतिया गतिविधि होने की शंका हो। ऐप की मदद से यह डिवाइस उस जगह से आ रही रेडिएशन बता देगी।

लेजर ग्रिड
यह एक तरह की लेजर डिवाइस है, जिसमें आसपास आत्मा या शक्ति होने पर लेजर बीम जलने लगती है। घोस्ट इन्वेस्टिगेशन में इसे सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही कैमरा और कैम-कॉर्डर भी लगाया जाता है। बाजार में तरह-तरह के फीचर्स वाले कई लेजर ग्रिड उपलब्ध हैं।

इन्फ्रारेड थर्मोमीटर
इसे थर्मल स्कैनर के नाम से भी जाना जाता है। जब कोई शक्ति नजदीक होती है, तो इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड और तापमान में भी जरा-सा अंतर आ जाता है। इन दोनों चीजों को मापने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता हैं। माना जाता है कि ऐसी शक्तियां जहां होती है वहां ठंड ज्यादा रहती है।  अगर तापमान 10 डिग्री के नीचे चला जाये, तो यह किसी शक्ति के होने का अहसास बताता है। घोस्ट इन्वेस्टिगेटर्स सभी भूतिया जगहों पर इसे जरूर लेकर जाते हैं। अन्य कई उपकरणों के साथ इसकी रीडिंग को भी काफी प्रमुखता दी जाती है।


Comments Off on घोस्ट हंटिंग गैजेट्स जो देंगे भूत के सबूत
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.