शादी समारोह से बच्चे ने चुराया 3 लाख का बैग !    फर्जी अंगूठा लगाकर मनरेगा के खाते से उड़ाये लाखों !    गुरु की तस्वीरों पर प्रकाश अाभा न दिखाने पर एतराज !    हरियाणा में 2006 के बाद के कर्मियों को भी ग्रेच्युटी !    पहले दिया समर्थन, अब झाड़ा पल्ला !    सप्ताह भर में न भरा टैक्स तो टावर होंगे सील !    पेंशन की दरकार, एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन !    परियोजना वर्करों की देशव्यापी हड़ताल कल !    आईएस का हाथ था कानपुर रेल हादसे में !    आज फिर चल पड़ेगी नेताजी की कार !    

नयी खोज…

Posted On August - 8 - 2016

क्या आपने कराया डिजिटल डिटॉक्स ?

अगर आप बार-बार अपना स्मार्ट फोन चेक करते हैं। दोस्तों से मुलाकात के दौरान भी अपना मोबाइल फोन दूर नहीं रख पाते, सोते वक्त भी अपने मोबाइल फोन को करीब रखते हैं और जब ज़रूरत नहीं होती तब भी मोबाइल फोन उठा लेते हैं तो आप मोबाइल फोन से जुड़े एडिक्शन यानी लत के शिकार हैं। इस लत का असर आपके शरीर और मन पर भी पड़ता है। एक नयी रिसर्च के मुताबिक कानों में खराबी, गर्दन और उंगलियों में दर्द, घबराहट और बेचैनी जैसी शारीरिक और मानसिक परेशानियां मोबाइल फोन्स और इंटरनेट के जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने का नतीजा भी हो सकती हैं। इस तरह के एडिक्शन के शिकार लोग सोने से पहले आखिरी काम के तौर पर मोबाइल फोन चेक करते हैं और उठने के बाद उनका सबसे पहला काम भी मोबाइल फोन चेक करना ही होता है।

  • भारत में स्मार्ट फोन्स का इस्तेमाल करने वाले 50 प्रतिशत लोग मोबाइल फोन पर म्यूजिक सुनने का शौक रखते हैं।
  • भारत में स्मार्ट फोन्स यूजर्स सबसे ज्यादा वह्वाट्सएप्प का इस्तेमाल करते हैं। इसके बाद गूगल सर्च, यू ट्यूब और ई-कॉमर्स एप्लीकेशन्स का नंबर आता है।
  • 2015 तक भारत में 16 प्रतिशत लोगों के पास स्मार्ट फोन्स थे जबकि 2021 तक भारत के 58 प्रतिशत लोगों के पास स्मार्ट फोन्स होंगे।
  • एक रिसर्च के मुताबिक भारत में करीब 22 करोड़ स्मार्टफोन्स हैं और पूरी दुनिया में 260 करोड़ मोबाइल फोन्स हैं।
  • एक दूसरे अनुमान के मुताबिक 2021 तक भारत में स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या 81 करोड़ से भी ज़्यादा हो जाएगी।
    वैज्ञानिक और डॉक्टर्स मानते हैं कि ऐसे लोग जिन्हें इंटरनेट और मोबाइल फोन्स की लत लग गई है उनके लिए डिजिटल डिटॉक्स यानी कुछ दिनों के लिए डिटॉक्स उपकरणों से दूरी बनाना बहुत जरूरी हो जाता है। खासतौर पर जब आप छुट्टी लेकर कहीं घूमने जाते हैं। तब ऐसे उपकरणों का ज़्यादा इस्तेमाल आपके लिए बहुत हानिकारक होता है।

नोमो और फोमो फोबिया की गिरफ्त में युवा
डिजिटल डिटॉक्स यानी इंटरनेट नशा मुक्ति की प्रक्रिया उन लोगों की मदद करती है जो नमो (NoMo) और फोमो जैसे फोबिया के शिकार हैं। नमो फोबिया का मतलब है नो मोबाइल फोबिया यानी मोबाइल फोन आसपास न होने पर डर लगना।
अगर आप अपने फोन के बिना नहीं रह पाते है, मोबाइल फोन की बैटरी खत्म होने पर आपको बेचैनी होने लगती है, और आप लगातार अपने फोन पर मैसेज और नोटिफिकेशन्स को चेक करते हैं और इंटरनेट कवरेज से बाहर जाते ही आप चिढ़चिढ़े हो जाते हैं तो आप भी नमो फोबिया के शिकार हो सकते हैं। पूरी दुनिया में बड़ी संख्या में लोग नमोफोबिया के साथ साथ फोमो (FOMO) का भी शिकार हो रहे हैं, फोमो यानी फियर ऑफ मिसिंग आउट। ऐसी स्थिति जब किसी व्यक्ति को डर सताने लगता है कि फोन पास न रहने पर, वो बाहर की दुनिया में चल रही गतिविधियों के बारे में नहीं जान पाएगा। उसे ऐसा सोचने से ही घबराहट होने लगती है।

क्या कहती है रिपोर्ट

  • टाइम मैगजीन की एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब 68 प्रतिशत लोग सोते वक्त डिजिटल उपकरण साथ रखते हैं।
  • जबकि 20 प्रतिशत लोग हर 10 मिनट में अपने मोबाइल फोन्स को चेक करते हैं।
  • पीयू रिसर्च (pew research)  के मुताबिक 44 प्रतिशत लोग अपना मोबाइल फोन बिलकुल अपने तकिये के पास रखकर ही सोते हैं।
  • पब्लिक लाइब्रेरी ऑफ साईंस के मुताबिक लोग जितना ज़्यादा फेसबुक इस्तेमाल करते हैं अपनी असल जिंदगी में वो उतने ही परेशान और निराश रहते हैं।
  • ऑस्ट्रेलिया में नमोफोबिया यानी मोबाइल फोन की लत का असर जानने के लिए 30 हज़ार लोगों पर एक स्टडी की गई और इस स्टडी के दौरान 10 में 9 लोगों ने माना कि फोन की बैटरी खत्म होने पर उन्हें बेचैनी होने लगती है।

10808CD _THINBOOKसबसे सस्ता लैपटॉप ‘थिनबुक’

आईटी हार्डवेयर और मोबिलिटी डिवाइस बनाने वाली कंपनी आरडीपी ने अपना नया लैपटॉप आरडीपी थिनबुक अल्ट्रा सिम लैपटॉप लॉन्च किया है। इस लैपटॉप की कीमत 9,999 रुपए रखी गई है। कहा जा रहा है कि यह दुनिया का सबसे पतला 14.1 इंच का लैपटॉप है । यह लैपटॉप 14.1 इंच एचडी एलईडी बैकलिट डिस्प्ले के साथ आता है। इसकी रेजोल्यूशन 1366×768 पिक्सल है । लैपटॉप में 10000 एमएएच की लीथियम-पॉलीमर बैटरी दी गई है। कंपनी का दावा है कि यह 8.5 घंटे तक चलेगी।  अल्ट्रा स्लिम लैपटॉप का वज़न 1.4 किलोग्राम है और इसमें इंटेल एटम एक्स5-ज़ेड8300 प्रोसेसर दिया गया है। इस 14.1 इंच के लैपटॉप की कीमत केवल 9,999 रुपए है।

मेगा सेल्फी स्मार्टफोन

10808cd _megapixalचाइनीज़ स्मार्टफोन कंपनियां अपने नए और बेहद शानदार स्मार्टफोन ‘मेगा सेल्फी’ को भारत में लॉन्च करने जा रही है। कंपनी ने इसके लिए इनवाईट भेजना भी शुरू कर दिया है। यह नया स्मार्टफोन 10 अगस्त को भारत में लॉन्च होगा। कूलपैड के इस नए स्मार्टफोन में 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा, 8 मेगापिक्सल का रियर कैम भी होगा, जो कि फ्लैशलाइट सपोर्ट के साथ आएगा। साथ ही इसमें एचडीआर्म एडिटिंग टूल, जिफ़ सपोर्ट और एचडी वीडियो रिकॉर्डिंग का फीचर भी होगा । यह स्मार्टफोन 5.5 इंच की एचडी आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले और 720पी रेजोल्यूशन के साथ होगा । फोन में वनजीएचजेड (1GHz) क्वाड कोर 64 बिट मीडिया टेक एमटी67355पी चिपसेट प्रोसेसर दिया जाएगा। फोन में 2जीबी रैम, 16जीबी इंटरनेल मेमॉरी हो सकती है जिसे माइक्रोएसडी कार्ड से 128 जीबी तक एक्सटेंंड किया जा सकता है।


Comments Off on नयी खोज…
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.