करदाताओं को धमकी न दें : सीबीडीटी !    भूमि अधिग्रहण के बाद मुआवजा अपील निरर्थक !    माल्या को लाने की कोशिशें तेज हुईं !    रिलायंस जियो का अब 3 नॉट 3 ऑफर !    ऋतिक का किस्सा अब खत्म : कंगना !    रसोइया नहीं जनाब इन्हें शेफ कहिये !    इलाहाबाद में राहुल-अखिलेश के लिए तैयार मंच गिरा !    93 के मुगाबे बोले, अगले साल भी लड़ूंगा चुनाव !    जंगली जानवर के हमले से गांवों में दहशत !    नूंह में दीवार तोड़ महिलाओं ने कर लिया दुकान पर कब्जा !    

इतना भी परफेक्ट नहीं

Posted On December - 31 - 2016

ए चक्रवर्ती
aamir-khan-look-in-dangal copyकाम के प्रति उनके समर्पण भाव को लेकर नए दौर का कोई भी कलाकार उन्हें चुनौती नहीं देना चाहता। वह आमिर हैं। साल दो साल में एक फिल्म करनेवाले आमिर खान इन दिनों सिर्फ ‘दंगल’ की बात करना चाहते हैं। लेकिन इसी बहाने उनसे और भी बातें हो जाती हैं-
‘दंगल’ के लिए आपने अपना वजन आश्चर्यजनक ढंग से बढ़ाया और घटाया। आपको नहीं लगता कि इस प्रक्रिया में रिस्क हो सकता है ?
-रिस्क तभी हो सकता है, जब आप बहुत जल्दबाजी में सब कुछ करें। वैसे डाक्टर कभी इस प्रक्रिया के हिमायती नहीं रहे हैं। उन्होंने मुझे भी सचेत किया था कि इस तरह से वजन बढ़ाना और फिर कम समय में वजन कम करना शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है। लेकिन चूंकि मैं इसमें एक पहलवान का किरदार कर रहा था, इसलिए रिस्क उठाना ही पड़ा। मैं अपने डाक्टर और ट्रेनर का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने इस मामले में मेरी काफी मदद की।
इस मामले में आपने अपने करीबियों की बात को भी नहीं माना…..
-लगता है, आप पूरी जानकारी लेकर आए हैं। हां, यह बात सच हैै कि मुझे मेरे करीबियों और ट्रेनर ने यह सुझाव दिया था कि मैं कैमरे की तकनीक के सहारे भी अपने आपको परदे पर पेश कर सकता हूं। पर मुझे ऐसी कृत्रिम बातों में ज्यादा मजा नहीं आता है। असल में मैं इस तरह के प्रयोग करके अपने किरदार को सही ढंग से जीवंत नहीं कर पाता हूं।
आप हर सवाल का जवाब काफी होमवर्क करके देते हैं ?
-इतने दिनों का आप लोगों का साथ है। इसलिए मैं भी बहुत सजग हूं। मुझे यह पूर्वाभास हो जाता है कि आप किस तरह की तैयारी करके मेरे पास आए हैं। मैं आपको कैसे बताऊं कि मैं एक बहुत डाउन टु अर्थ व्यक्ति हूं। मेरे कुछ अच्छे पत्रकार दोस्त हैं, जिन्हें समय मिलने पर मैं अपने घर में बुला लेता हूं। छत पर बैठकर कई घंटों तक बातों की महफिल चलती है। तब मैं जरा भी नाप-तोल कर नहीं बोलता हूं। मैं खुशनसीब हूं कि उस दौरान कही गई मेरी कुछ अहम बातों को मेरे पत्रकार दोस्त भी भुला देते हैं।
आप पर आरोप है कि आपने ‘दंगल’ के निर्देशक नितेश तिवारी को परदे के पीछे से नियंत्रित किया है ?
-मैं यदि यह कहूं कि बिल्कुल नहीं, तो क्या आप यकीन कर लेंगे। असल में किसी बनी बनाई धारणा को तोड़ना बहुत मुश्किल होता है। सच तो यह है कि अन्य दूसरे एक्टर की तरह मैं भी डायरेक्टर का एक्टर हूं। मैं जब भी किसी के साथ काम करता हूं, उसके पूर्व काम को कभी नही देखता हूं। वह डायरेक्टर वर्तमान में मुझे कितना प्रभावित कर पाएगा, यही बात मेरे लिए ज्यादा मायने रखती है। इसलिए फिल्म के शुरू होने से पहले ही मैं वे सारी बातें ठोक बजाकर देख लेता हूं। शायद आपको पता नहीं मैंने नितेश तिवारी की फिल्म भी उनसे हुए एक साल के लंबे विचार-विमर्श के बाद साइन की थी।
क्या आपको लगता है कि ‘दंगल’ के चलते देश में कुश्ती की लोकप्रियता बढ़ेगी?
-यह खेल पहले से ही हमारे देश में खूब लोकप्रिय है। शायद ही हमारे देश में ऐसा कोई गांव होगा, जहां कुश्ती का अखाड़ा न बना हो। पर हां, शहर के लोगों के भीतर इस खेल को लेकर ज्यादा उत्साह नहीं है। ‘दंगल’ के चलते इस खेल के बारे में नये सिरे से नयी चर्चा शुरू होगी। खुद मैं भी राष्ट्रीय स्तर पर इंडियन पहलवान जैसी कोई लीग शुरू होने पर अपनी तरफ से पूरा सहयोग दूंगा।
क्या आप राजकुमार हिरानी की अगली फिल्म भी कर रहे हैं ?
-राजू के साथ एक फिल्म के लिए मेरी बात तो हुई है। पर फिलहाल वह संजय दत्त की बायोपिक को लेकर मशगूल हैं। इसके बाद मुन्नाभाई का सीक्वल है। मगर उनकी फिल्म मैं बिल्कुल नहीं छोडूंगा। राजू से इस बारे में मेरी काफी बातें हुई हैं। वैसे भी मैं ‘दंगल’ के बाद अपने मैनेजर अद्वैत की फिल्म कर रहा हूं। वह बहुत दिनों से मेरे साथ यह फिल्म करना चाहता है। उसने बहुत अच्छी तैयारी की है।


Comments Off on इतना भी परफेक्ट नहीं
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.