शादी समारोह से बच्चे ने चुराया 3 लाख का बैग !    फर्जी अंगूठा लगाकर मनरेगा के खाते से उड़ाये लाखों !    गुरु की तस्वीरों पर प्रकाश अाभा न दिखाने पर एतराज !    हरियाणा में 2006 के बाद के कर्मियों को भी ग्रेच्युटी !    पहले दिया समर्थन, अब झाड़ा पल्ला !    सप्ताह भर में न भरा टैक्स तो टावर होंगे सील !    पेंशन की दरकार, एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन !    परियोजना वर्करों की देशव्यापी हड़ताल कल !    आईएस का हाथ था कानपुर रेल हादसे में !    आज फिर चल पड़ेगी नेताजी की कार !    

गरीबी और अशिक्षा ही लिंग असमानता का बड़ा कारण

Posted On December - 8 - 2016
डॉ. अवनीश

डॉ. अवनीश

सामाजिक परिवर्तन एक दिन में नहीं आता, इसके लिए लगातार प्रयास करते रहना जरूरी है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान ऐसा ही सामाजिक आंदोलन है। इस अभियान की कामयाबी लोगों पर निर्भर है, जब तक वे सक्रिय होकर इससे नहीं जुड़ेंगे, यह लक्ष्य हासिल नहीं हो पाएगा। डॉ. अवनीश यह बात कहते हैं। उनके मुताबिक समाज में बड़े स्तर पर गरीबी का प्रसार है जो अशिक्षा और लिंग असमानता का बहुत बड़ा कारण है।
उनके अनुसार शिक्षा का सीधा संबंध रोजगार से है। कम शिक्षा का अर्थ है कम रोजगार। ऐसे में महिलाओं की स्थिति में सुधार लाने के लिए शिक्षा बेहद जरूरी है, क्योंकि इससे इन्हें वित्तीय रूप से आत्मनिर्भरता हासिल होती है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानीपत से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की थी, इसके बाद हरियाणा सरकार ने भी इस तरह प्रभावी कदम बढ़ाते हुए फिल्म अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा को इस अभियान की ब्रांड एंबेस्डर बनाया है।
डॉ. अवनीश ने कहा कि लड़कियां वर्षों से देश में कई तरह के अपराधों से पीड़ित हैं। सबसे भयानक अपराध कन्या भ्रूण हत्या है जिसमें अल्ट्रासाउंड के जरिये लिंग परीक्षण के बाद लड़कियों को मां के गर्भ में ही मार दिया जाता है। उन्होंने मेडिकल प्रोफेशन से जुड़े लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि ऐसा न करें। पैसाें के लिए ऐसा किया जाना न केवल अपराध है बल्िक बेहद शर्मनाक भी है। आखिर ऐसी कमाई करके हम उसका कहां इस्तेमाल कर सकेंगे।
 संदीप पाराशर, तिगांव/फरीदाबाद


Comments Off on गरीबी और अशिक्षा ही लिंग असमानता का बड़ा कारण
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.