प्रधानमंत्री मोदी की डिग्री सार्वजनिक करने पर रोक !    ट्रंप ने टीपीपी संधि खत्म करने का दिया आदेश !    वार्नर को फिर आस्ट्रेलिया क्रिकेट का शीर्ष पुरस्कार !    सेरेना, नडाल का विजय अभियान जारी !    अभय ने लिखा मोदी को पत्र, मुलाकात का समय मांगा !    चुनाव से पहले सीएम उम्मीदवार घोषित होंगे कैप्टन : अानंद शर्मा !    युवती को अगवा कर होटल में किया रेप !    सुप्रीमकोर्ट ने सीएजी को दिये पुष्टि के निर्देश !    मॉरीशस में प्रधानमंत्री ने बेटे को सौंपी सत्ता !    ट्रेन हादसे की जांच को पहुंची एनआईए !    

चिल्हड़ की पंचायत जो भी काम करती है, उन पर बेटियों के नाम लिखती है

Posted On December - 22 - 2016
12212cd _panchayat chiller

चिल्हड़ गांव में बनी नवनिर्मित ग्राम पंचायत। सभी फोटो अस

गांव में ग्रामीणों ने चौपाल बनाई। इसके बाद वे स्थानीय विधायक के पास गए और आग्रह किया कि वे उस चौपाल का उद‍्घाटन करें। ग्रामीणों को उम्मीद थी कि विधायक आ जाएंगे लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। हालांकि इसके बाद विधायक ने जो कहा वह जरूर बदलाव की वजह बन गया।
ग्रामीणों से कहा गया कि अगर वे बेटी के जन्म लेने पर उसके नाम पर चौपाल का नाम रखें तो वह आने को तैयार हैं। उनका कहना था कि गांव में जहां भी पंचायत स्तर के काम हों, उन पर बेटियों के नाम अंकित किए जाएं। इसका मतलब था कि वे बेटियों के जन्म को प्रेरित और प्रोत्साहित करना चाहते थे। खैर ग्रामीणों ने इसे स्वीकार कर लिया। रेवाड़ी जिले के चिल्हड़ गांव में आजकल बदलाव की बयार है। इस गांव की कहानी दूसरों के लिए भी प्रेरक बन रही है।

*************

विधायक रणधीर        सिंह कापड़ीवास

विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास

गांव चिल्हड़ की ग्राम पंचायत ने बेटियों को समाज में ऊंचा दर्जा देने व उनका गौरव बढ़ाने के लिए अपने गांव की नवनिर्मित सड़कों, गलियों व विकास कार्यों का नाम नवजात बेटियों के नाम पर करने का फैसला लिया है। गांव के सरपंच बलराम नारा की अध्यक्षता में ग्रामसभा की विशेष बैठक बुलाई गई। जिसमें प्रस्ताव रखा गया कि- क्यों न अपनी बेटियों के नाम पर विकास कार्यों के शिलालेख लगाए जाएं व गांव के रास्तों के नाम रखे जाएं। गांव में जन्म लेने वाली बेटी के नाम पर यह पहल की गई है। इस प्रस्ताव को पंचायत ने सर्वसम्मति से पारित करने में कोई देर नहीं लगाई।
गांव चिल्हड़ में लगभग 5500 की आबादी है और चिल्हड़, धनौरा व भुरथल ठेठर 3 गांवों की संयुक्त पंचायत है। सरपंच के अतिरिक्त 12 पंचों में से 6 महिला पंच ऋतु, कविता, अनीता, दीपिका, बीना, प्रियंका ग्राम पंचायत की बैठकों में हिस्सा ले रही हैं। सरपंच बलराम बताते हैं, गांव के विभिन्न वार्ड में होने वाले विकास कार्यों के शिलालेख पर इन वार्ड में पैदा होने वाली बेटियों के नाम अंकित किए जाएंगे। अजा वार्ड में नवनिर्मित चौपाल बनकर तैयार है और यहां लगने वाले शिलालेख पर इस वार्ड में जन्म लेने वाली बच्ची का नाम अंकित कर इस पहल की शुरुआत की जाएगी। इसके अतिरिक्त यह भी निर्णय लिया गया है कि जिस वार्ड की गली व सड़कें स्वच्छ होंगी, उन गलियों के नाम पैदा होने वाली बच्चियों के नाम पर रखे जाएंगे। इससे स्वच्छता का संदेश जाएगा और बेटी

सरपंच बलराम, ग्राम चिल्हड़

सरपंच बलराम, ग्राम चिल्हड़

को मान-सम्मान मिलेगा। गांव की महिला पंच दीपिका यादव ने कहा कि हमारे गांव में लिंगानुपात में तेजी से सुधार हुआ है और इस समय यह अनुपात 1000-900 है। गांव की अधिकांश बेटियां शिक्षित हैं और शिक्षा ले रही हैं। इस समय 700-800 लड़कियां स्कूलों में जा रही हैं। वहीं गांव के अतर सिंह व भीम सिंह ने कहा कि यह एक शुभ और प्रेरक पहल है। सभी गांववासी इस निर्णय से बेहद खुश हैं। यह पहल बेशक प्रतीकात्मक व छोटी है, लेकिन इसका संदेश दूर तक जाएगा।
रेवाड़ी हलके के विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास के मुताबिक चिल्हड़ ग्राम पंचायत के सदस्य नविनिर्मित अजा वार्ड में चौपाल के उद्घाटन के लिए मेरे पास आए थे। तब मैंने इस तरह के उद्घाटन करने से इनकार करते हुए उन्हें सलाह दी कि वे चौपाल के शिलालेख पर गांव की किसी बेटी का नाम अंकित करें तो वे तुरंत कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। उन्हें खुशी है कि उनके हलके में गांव चिल्हड़ ने इस अपील को स्वीकार किया और विकास कार्य के शिलालेख पर जन्म लेने वाली बेटी का नाम अंकित करने का फैसला लिया। अच्छी शुरुआत कहीं से भी हो, होनी चाहिए। इस पहल के बाद वे गांव के विकास में और सहयोग देंगे। वे इस पहल का शुभारंभ करने के लिए गांव जाने को आतुर हैं और इंतजार है बेटी के जन्म लेने का।
 तरुण जैन, रेवाड़ी


Comments Off on चिल्हड़ की पंचायत जो भी काम करती है, उन पर बेटियों के नाम लिखती है
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.