प्रधानमंत्री मोदी की डिग्री सार्वजनिक करने पर रोक !    ट्रंप ने टीपीपी संधि खत्म करने का दिया आदेश !    वार्नर को फिर आस्ट्रेलिया क्रिकेट का शीर्ष पुरस्कार !    सेरेना, नडाल का विजय अभियान जारी !    अभय ने लिखा मोदी को पत्र, मुलाकात का समय मांगा !    चुनाव से पहले सीएम उम्मीदवार घोषित होंगे कैप्टन : अानंद शर्मा !    युवती को अगवा कर होटल में किया रेप !    सुप्रीमकोर्ट ने सीएजी को दिये पुष्टि के निर्देश !    मॉरीशस में प्रधानमंत्री ने बेटे को सौंपी सत्ता !    ट्रेन हादसे की जांच को पहुंची एनआईए !    

अखिलेश 2 साल के थे, तब बनी थी सपा…

Posted On January - 11 - 2017

यूपी विधानसभा चुनाव

लखनऊ में बुधवार को मुलायम सिंह कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए। -प्रेट्र

लखनऊ में बुधवार को मुलायम सिंह कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए। -प्रेट्र

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में जारी घमासान के बीच लखनऊ के समाजवादी पार्टी कार्यालय में फिर गहमा-गहमी है। मुलायम सिंह और शिवपाल यादव पार्टी दफ्तर पहुंचे। दोनों नेताओं ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच मुलायम सिंह यादव ने स्पीच दी। मुलायम ने कहा बहुत संघर्ष के बाद समाजवादी पार्टी बनी है। हमने पार्टी की एकता के लिए समय दिया। पार्टी की एकता में कोई बाधा न डाले।
पुत्र पर साधा निशाना
मुलायम ने कहा कि पार्टी की एकता के लिए हमने हर कदम उठाए। जो हमारे पास था, सब दिया। मुलायम ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप हमारे साथ हमेशा रहे। मुलायम ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आपकी चिंता स्वाभाविक है, क्योंकि पार्टी बड़े संघर्ष से बनी है। उन्होंने आगे कहा कि मैं दिल्ली गया था की हमारी पार्टी की एकता में कोई बाधा न डाल पाये। अखिलेश गुट पर निशाना साधते हुए मुलायम ने सपा कार्यकर्ताओं से कहा कि न हम अलग पार्टी बना रहे हैं, न सिंबल बदल रहे हैं। वो (विपक्षी गुट) दूसरी पार्टी बना रहे हैं।
पार्टी दंगल में फंसे अखिलेश की नज़र चुनावों पर भी
10501cd _upमुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक तरफ अपनी ही पार्टी के दंगल में फंसे हुए हैं तो वहीं दूसरी तरफ उनकी नजर चुनावों पर भी हैं। अखिलेश यादव और उनका खेमा न सिर्फ पार्टी और परिवार में मचे बवाल पर ध्यान लगाए हुए हैं, बल्कि आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस और राष्ट्रीय लोक दल के साथ गठबंधन करने पर भी है।अखिलेश खेमे के बड़े नेता जैसे रामगोपाल यादव पार्टी में मचे बवाल और चुनाव चिह्न को लेकर चुनाव आयोग में चल रहे मसले पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं तो वहीं सूत्रों से खबर है कि दूसरी तरफ अखिलेश यादव कांग्रेस के साथ सीटों के फैसलों पर विचार-विमर्श में लगे हुए हैं। सीटों के बंटवारे को लेकर अखिलेश राहुल और प्रियंका गांधी से सीधे संपर्क में भी हैं।
सूत्रों के अनुसार शुरुआत में कांग्रेस ने 140 और आरएलडी ने 50 सीटों की मांग रखी थी लेकिन पर्दे के पीछे चल रही बातचीत के अनुसार दोनों पार्टियां कुछ सीटें कम करने को तैयार हुई हैं। अभी तक कोई आखिरी मुहर नहीं लगी है। लेकिन माना जा रहा है कि सपा 300, कांग्रेस 78-80 और बाकी सीटें आरएलडी को दी जायेंगीं।
रामगोपाल से नाराज मुलायम
मुलायम रामगोपाल यादव पर खासे नाराज दिखे और कहा कि वह बहुत पहले से ही मोटरसाइकिल चुनाव चिन्ह के साथ अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बनाने में लगे थे। रामगोपाल पर भाजपा से मिले होने का आरोप लगाते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अगर उन्हें अपने बेटे और बहू को बचाना था तो दूसरों के पास जाने से अच्छा था कि उनसे मदद मांगते। मुलायम ने अपने कार्यकर्ताओं को यह भरोसा दिलाना चाहा कि वह पार्टी को टूटने नहीं देंगे।


Comments Off on अखिलेश 2 साल के थे, तब बनी थी सपा…
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.