अन्न पैदा करने वाला मर रहा कर्ज के बोझ तले !    वेंकैया ने की कसरत !    गोदाम में आग, 4 युवक झुलसे !    अवैध निर्माण तोड़ने को हूडा विभाग में अलग दस्ता !    दोस्त के साथ मिलकर पत्नी को मार डाला !    पूर्व एमएलए जौली के खिलाफ रेप केस !    अपनी जमीन खाली करा पौधे लगाएगा वन विभाग !    विकास के मुद्दे पर भड़के सरपंच, सीएम तक पहुंचे !    डिपोधारकों का सामूहिक छुट्टी पर जाने का अल्टीमेटम !    'निजी बस चालक नहीं मानते बस पास' !    

कैट में छाये ट्राईिसटी के तीन इंजीिनयर

Posted On January - 10 - 2017

पंचकूला/चंडीगढ़, 9 जनवरी (नस)
10dt06B.psट्राईसिटी के तीन इंजीनियरों ने कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) में टॉप किया है। आईआईएम बंगलुरु की अधिकृत वेबसाइट पर घोषित कैट के परीक्षा परिणामों में सर्वाधिक अंक लेने वाला पीयूष मित्तल ट्राईसिटी का है, जिसने कैट में टाप करते हुए 99.85 परसेंटाइल अंक हासिल किए हैं। पीयूष मित्तल फिलहाल गुरुग्राम में एक निजी कंपनी में बतौर कंसल्टेंट कार्यरत है। वहीं प्रीतिका सचदेवा ने 99.62 परसेंटाइल अंक हासिल किए हैं, जो लड़कियों में अव्वल रही है। इतना ही नहीं ट्राइसिटी का ही प्रांशु बतरा ने 99.48 परसेंटाइल अंक हासिल किए हैं। आईआईएम बंगलुरु संस्थान के मुताबिक पूरे भारत में 20 छात्र शत प्रतिशत अंक लेने के करीब रहे।
जानकारी के अनुसार 4 दिसंबर, 2016 को हुए कैट की परीक्षा में करीब 8500 बच्चों ने केवल चंडीगढ़ क्षेत्र से भाग लिया था। इस परीक्षा में ट्राईसिटी के तीन बच्चों ने टाप कर चंडीगढ़ का नाम रोशन किया है। जानकारों का मानना है कि कैट की परीक्षा में अव्वल बच्चों पर भारतीय व विदेशी नामी कालेजों की नजर रहती है। इतना ही नहीं ऐसे बच्चों के लिए 5 से 20 लाख रुपये तक के वेतन की नौकरियों के अवसर की भी कोई कमी नही रहती।
वेबसाइट पर रिजल्ट देखने में आई दिक्कत : आईआईएम बंगलुरु संस्थान द्वारा कैट का रिजल्ट सोमवार को अधिकृत वेबसाईट पर जारी किया गया। लेकिन वेबसाइट की स्पीड कम होने की वजह से स्टूडेंट्स को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। विभाग ने सुबह करीब 10 बजे कैट का रिजल्ट जारी कर दिया था, लेकिन 11.30 बजे तक वेबसाइट की स्पीड काफी कम थी, काफी मशक्कत के बाद परिणाम दिखा।


Comments Off on कैट में छाये ट्राईिसटी के तीन इंजीिनयर
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.