कम्युनिस्टों से खफा-खफा बापू !    कोजी कोजी ठंड !    उलट सियासी विचार वाले साथी संग दो पल !    डाकिया थनप्पा खुशी बांचता गम छिपाता !    मैं हूं मीरा !    स्ट्रीट फूड बनारस का !    भारतीय जवान को पाक ने साढ़े 3 माह बाद छोड़ा !    लिव-इन-रिलेशनशिप में दिक्कत नहीं !    खबर है कि !    हल्दी का सीन करते नम हुई आंखें !    

कैश न मिला तो बैंक का शटर गिराया

Posted On January - 11 - 2017

नारनौल, 11 जनवरी (निस)

सतनाली में बुधवार को नकदी नहीं मिलने पर शटर डाऊन कर बैंक के इकट्ठी उपभोक्ताओं की भीड़। -निस

सतनाली में बुधवार को नकदी नहीं मिलने पर शटर डाऊन कर बैंक के इकट्ठी उपभोक्ताओं की भीड़। -निस

सतनाली कस्बा स्थित स्टेट बैंक ऑफ पटियाला में बुधवार को उपभोक्ताओं ने समुचित नकदी नहीं मिलने पर हंगामा कर दिया। उपभोक्ताओं ने बैंक कर्मचारियों पर तयशुदा नगदी नहीं देने का आरोप लगाते हुए बैंक का शटर डाऊन कर दिया और प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। हंगामे की सूचना मिलने पर सतनाली पुलिस के एचसी अनिल कुमार ने उपभोक्ताओं को समझा-बुझाकर शटर खुलवाया और नकदी का वितरण शुरू करवाया।
जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह नकदी निकासी के लिए महिलाओं, बुजुर्गों सहित सैंकड़ों उपभोक्ता लाईन में लगे थे। मंगलवार को बैंक द्वारा नकदी नहीं दिए जाने के कारण आज भीड़ ज्यादा थी। प्रात: 10 बजे बैंक खुलने पर बैंक प्रबंधन द्वारा सिर्फ 4 हजार नकदी ही दिए जाने की बात पर लाइन में लगे उपभोक्ताओं ने प्रबंधक पर मनमानी करने व उपभोक्तओं को नाहक ही परेशान करने का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया और बैंक का शटर डाऊन कर दिया।
सूचना मिलने पर एचसी अनिल कुमार मौके पर पहुंचे और उपभोक्ताओं की समस्या को सुना और बैंक प्रबंधक से बात कर बैंक में उपलब्ध नकदी का वितरण आरंभ करवा मामला शांत किया। उपभोक्ताओं का आरोप था कि कभी नकदी नहीं होने तो कभी देर सायं तक नगदी आने के कारण अमुमन सप्ताह में एक या दो बार ही नकदी मिल पाती है। ऐसे में यदि मात्र 4 हजार रुपए ही निकालने दिया जाएगा तो कैसे काम चलेगा।
उपलब्ध नकदी देख लिया था फैसला
बैंक प्रबंधक सुरेश मीणा ने बताया कि बैंक प्रबंधन द्वारा उपलब्ध नकदी के आधार पर ही उपभोक्ताओं को 4 हजार रुपए देने का निर्णय लिया गया था जो उपभोक्ताओं को मंजूर नहीं था। इसी बात को लेकर कुछ उपभोक्ताओं ने हंगामा कर दिया था।


Comments Off on कैश न मिला तो बैंक का शटर गिराया
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.