प्रधानमंत्री मोदी की डिग्री सार्वजनिक करने पर रोक !    ट्रंप ने टीपीपी संधि खत्म करने का दिया आदेश !    वार्नर को फिर आस्ट्रेलिया क्रिकेट का शीर्ष पुरस्कार !    सेरेना, नडाल का विजय अभियान जारी !    अभय ने लिखा मोदी को पत्र, मुलाकात का समय मांगा !    चुनाव से पहले सीएम उम्मीदवार घोषित होंगे कैप्टन : अानंद शर्मा !    युवती को अगवा कर होटल में किया रेप !    सुप्रीमकोर्ट ने सीएजी को दिये पुष्टि के निर्देश !    मॉरीशस में प्रधानमंत्री ने बेटे को सौंपी सत्ता !    ट्रेन हादसे की जांच को पहुंची एनआईए !    

‘पेज थ्री’ जैसी फिल्मों की तलाश

Posted On January - 7 - 2017

बायस्कोप/ कोंकणा सेन

Konkona-Sen-Sharma-Hot-Photos-15 copyअसीम
पति रणवीर शौरी के साथ अपने अलगाव को मैंने कभी हाइप नहीं होने दिया है। यह एक अच्छी बात है कि हम आज भी अच्छे दोस्त हैं। मेरी निर्देशित फिल्म ‘ए डेथ इन द गंज’ में उसने बहुत उम्दा काम किया। 2006 में अपनी शार्ट फिल्म ‘नामकरोन’ के बाद मैं एकदम खामोश हो गई थी। लेकिन अब एक्टिंग के साथ-साथ मैंने अपने निर्देशन को भी वक्त देने का पूरा मन बना लिया है। पिछले दिनों रिलीज फिल्म ‘अकीरा’ के बाद से मुझे फिर नई फिल्मों के कई आॅफर मिले हैं। असल में ‘मिस्टर एंड मिसेज अय्यर’, ‘पेज थ्री’, ‘अतिथि तुम कब जाओगे’, ’15 पार्क एवेन्यू’ जैसी फिल्में आज भी मेरी कमजोरी हैं। मुझे आज भी ऐसी फिल्मों की तलाश रहती है।

बंगला फिल्में अधिक पसंद
शायद इसी वजह से मैं कई फिल्मों के आॅफर भी वापस कर देती हूं। हो सकता है कि इसके चलते कुछ निर्माताओं को मुझसे शिकायत भी हो। असल में होता यह है कि अपनी पसंद के चलते मैं जिस भी निर्माता की फिल्म करने से इंकार करती हूं, वह यह समझता है कि मैं एटीट्यूट दिखा रही हूं। जबकि ऐसा कुछ नहीं है। मैं सिर्फ अपने हिसाब से कुछ चुनींदा फिल्में करना चाहती हूं। बेटे हारून के पालन-पोषण के चलते भी मैं फिल्मों से थोड़ा दूर चली गई थी। पर अब मैंने सब कुछ व्यवस्थित कर लिया है। खैर, एक वक्त में ज्यादा फिल्में करने की मेरी आदत कभी नहीं रही है। इस समय मेरे पास बंगला के अलावा हिंदी की दो फिल्में हैं। मगर यह मेरी चिंता का विषय नहीं है। मुझे सिर्फ अच्छी फिल्में करनी हैं। वह हिंदी की हों या किसी अन्य भाषा की, जो भी सब्जेक्ट मुझे पसंद आता है, मैं उसे कर लेती हूं। हां, यह बात जरूर है कि इन दिनों हिंदी की तुलना में बंगला फिल्मों को ज्यादा तवज्जो दे रही हूं। इसकी एक बड़ी वजह यह है कि बंगला फिल्में मेरी संतान की तरह हैं, और हिंदी फिल्मों को मैंने गोद ले रखा है। हालांकि मैंने इन दोनों में कभी कोई भेद-भाव नहीं किया। वैसे हिंदी की जब भी किसी अच्छी फिल्म का आॅफर मुझे मिला है, मैंने उसे झट लपक लिया है।

‘अय्यर’ ने किस्मत बदल दी
मैं जब तीन साल की थी, तब एक बंगला फिल्म ‘इंदिरा’ में मुझे बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम करने का मौका मिला। इस फिल्म के कुछ डाॅयलाॅग मुझे आज तक याद हैं। वैसे अब तक के मेरे करिअर की सबसे अहम फिल्म थी मिस्टर और मिसेज अय्यर। मैं इसे अपनी सबसे उम्दा फिल्म मानती हूं। निश्चित तौर से मां की इस फिल्म ने मेरी किस्मत बदल दी थी। मैं आज जो कुछ भी हूं, उस सबका श्रेय इस फिल्म को जाता है।

मां वाले रोल से इंकार नहीं
यह बात भी बिल्कुल निराधार है कि मैं हमेशा लीड रोलवाली फिल्में ही करना चाहती हूं। मेरा ख्याल है कि अच्छी फिल्में यदि करनी हैं, तो ऐसी जिद का कोई मतलब नहीं। हमेशा मजबूत करेक्टर ही फिल्म की लीड बन जाते हैं। किसी-किसी फिल्म में तो ऐसे तीन-चार केरेक्टर होते हैं। अब जैसे कि मेरी पिछली फिल्म ‘अकीरा’ में भी मेरा ऐसा केरेक्टर था। इसलिए मैं सिर्फ यह देखती हूं कि फिल्म के मेरे केरेक्टर में कितना दम है। भले ही वह सिस्टर या मेच्योर मदर का रोल हो। शायद करण भी मुझे अपनी अगली फिल्म में एक मेच्योर मदक का रोल दें।

मीडिया से कोई दूरी नहीं
मेरे बारे में अक्सर यह कहा जाता है कि मैं मीडिया से थोड़ी खफा रहती हूं। इसकी एकमात्र वजह यह है कि वह मेरी निजी जिंदगी में जरूरत से ज्यादा दखल देता है। अब देखिए ना, आपने मेरी निजी जिंदगी से जुड़े सवाल कम पूछे, तो बातचीत अच्छी ही हुई। वैसे अब मेरी लाइफ पूरी तरह से स्थिर है। बीच में कुछ प्राब्लम आ गये थे। इस वजह से शुरू-शुरू में मैं थोड़ा अपसेट थी। मैंने कभी नहीं चाहा था कि हमारी शादी टूटे। इसलिए मैंने हमेशा धैर्यपूर्वक वक्त का इंतजार किया। अपने बीच के डिफरेंसेस को कम करने के लिए मैं खामोशी से अलग मकान लेकर रहने लगी। पर परिणाम मेरे मन मुताबिक नहीं आया। खैर, इसका मुझे कोई अफसोस नहीं है। क्योंकि जिंदगी हमेशा आपके मन मुताबिक नहीं चलती है।


Comments Off on ‘पेज थ्री’ जैसी फिल्मों की तलाश
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.