मोदी और ट्रंप ने फोन पर की बातचीत !    साढ़ू को करोड़ों का फायदा पहुंचाने के मामले में केजरीवाल की मुशिकलें बढ़ीं !    विभाग किये छोटे, कर रही निजीकरण !    रिमी सेन भाजपा में, सनी देओल की भी चर्चा !    शिल्पा शेट्टी बोलीं-मुलाकात के बाद आया 'चैन' !    शाहरुख को देखने स्टेशन पर भगदड़, एक की मौत !    बुजुर्गों ने की सरकार की हाय-हाय !    गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में दिखेगा धनुष का ‘शौर्य’  !    यूपी में बहुमत तो बनेगा मंदिर : भाजपा !    सीबीआई की परीक्षा !    

बीअारटीएस, रेल काॅरिडोर पर शुरू नहीं हुअा काम

Posted On January - 11 - 2017

रामकृष्ण उपाध्याय/ट्रिन्यू
चंडीगढ़, 10 जनवरी
शहर में बढ़ती ट्रैफिक समस्या के समाधान को लेकर बनाई गई मास्टर प्लान से संबंधित सिफारिशें इस संबंध में कोई कार्रवाई न होने के चलते फाइलों में धूल फांक रही हैं।
उल्लेखनीय है कि 2015 में बनाई गई मास्टर प्लान में भविष्य में शहर की ट्रैफिक समस्या के समाधान को लेकर व्यापक सिफारिशों तथा सुझाव दिये गये थे। ये सिफारिशें विभिन्न अध्ययनों तथा मास्टर प्लान कमेटी के सदस्यों के पास उपलब्ध जानकारी के अाधार पर की गई थीं।
मास्टर प्लान में चंडीगढ़ शहरी क्षेत्र परिसर में बढ़ती ट्रैफिक समस्या के समाधान के लिए इंटिग्रेटिड मल्टी माॅडल ट्रांसपोर्ट सिस्टम का सुझाव दिया गया था।
मास्टर प्लान कमेटी का कहना था कि चंडीगढ़ के ट्रैफिक अौर परिवहन पर अलग से विचार नहीं किया जा सकता है क्योंकि शहर के अासपास के क्षेत्र में हो रहे विकास का शहर के यातायात पर सीधा असर पड़ता है। कमेटी ने शहर के विभिन्न िहस्सों में टाइम के अाधार पर पार्किंग शुल्क लगाये जाने के सुझाव के साथ अाॅटोमैटिक पार्किंग की सिफारिश भी की थी। इसके अलावा यात्रियों की मांग तथा जरूरत के अनुरूप मेट्रो काॅरिडोर, बस रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम (बीअारटीएम) अौर यात्री रेल काॅरिडोर का भी प्रस्ताव किया गया है। इस सिस्टम के तहत न केवल ट्राईसिटी को ही कवर किया जायेगा बल्कि इसे बद‍्दी अौर नालागढ़ तक बढ़ाया जायेगा। यह सिस्टम राइट‍्स की रिपोर्ट पर अाधारित है, जिसने कि शहर के ट्रैफिक के बारे में सर्वे किया था।
प्लान के मुताबिक मेट्रो 64.3 किलोमीटर, बीअारटीएम 145 किलोमीटर तथा कम्प्यूटर रेल काॅरिडोर 195 किलोमीटर को कवर करेगा। सिफारिशों के मुताबिक बीअारटीएम 11 सड़कों पर लागू किया जाएगा। कम्यूटर रेल काॅरिडोर रेल सेवा अम्बाला-कालका (70 किलोमीकर), चंडीगढ़-मोहाली-लुधियाना (90 किलोमीटर) तथा पिंजौर-बद‍्दी-नालागढ़ (35 किलोमीटर) के लिए प्रस्तावित थी।
कमेटी ने भविष्य की जरूरतों के हिसाब से 3 अौर इंटरसिटी बस टर्मिनल बनाये जाने की सिफारिश भी की थी। इनमें से एक मनीमाजरा, दूसरा सेक्टर-31 तथा तीसरा सेक्टर 102 (मोहाली) में बनाये जाने का प्रस्ताव है। मास्टर प्लान कमेटी सिटी बस सेवा को बढ़ाने तथा सुधारने की भी पक्षधर है।


Comments Off on बीअारटीएस, रेल काॅरिडोर पर शुरू नहीं हुअा काम
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.