एकदा !    सबरीमाला मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी !    सपा प्रत्याशी ने लिया नाम वापस !    सुप्रीम कोर्ट की शरण में प्रजापति गिरफ्तारी पर रोक की अर्जी !    गुजरात के तो गधों का भी होता है प्रचार !    दलित की बेटी हेलीकॉप्टर में घूमे, मोदी को अच्छा नहीं लगता !    बहुजन से बहनजी तक सिमटी बसपा : मोदी !    दहेज लोभी को नकारा, इंजीनियर से रचायी शादी !    गैंगस्टर के 4 अौर समर्थक गिरफ्तार !    मेट्रो महिला ने किया आत्महत्या का प्रयास !    

228 रन पर सिमटी 41 बार की चैंपियन मुंबई

Posted On January - 10 - 2017

इंदौर, 10 जनवरी (एजेंसियां)
युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की आकर्षक अर्धशतकीय पारी के बावजूद 41 बार का रणजी चैंपियन मुंबई मंगलवार को गुजरात की अनुशासित गेंदबाजी के सामने पहली पारी में 228 रन पर आउट हो गया।
5 दिवसीय रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच के पहले दिन का खेल समाप्त होने तक 66 साल बाद फाइनल में खेल रहे गुजरात ने भी अपनी पहली पारी शुरू कर दी थी। उसे केवल एक ओवर खेलने का मौका मिला, जिसमें उसने बिना किसी नुकसान के 2 रन बनाये हैं। गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ने टॉस जीतकर मुंबई को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। जसप्रीत बुमराह की अनुपस्थिति के बावजूद गुजरात के अन्य तेज गेंदबाजों ने सुबह की नमी का पूरा फायदा उठाकर मुंबई को शुरू में ही झटके दिये, जिसके केवल 5 बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे। 17 वर्षीय पृथ्वी शॉ ने रन आउट होने से पहले 71 रन की आकर्षक पारी खेली।
सूर्यकुमार यादव (57) ने भी अर्धशतक बनाया और इस बीच प्रथम श्रेणी मैचों में 4000 रन पूरे किये। इन दोनों के अलावा आलराउंडर अभिषेक नायर (35), सिद्धेष लाड (23) और श्रेयस अय्यर (14) ही दोहरे अंकों में पहुंचे।
गुजरात ने की शानदार गेंदबाजी : 
गुजरात की तरफ से अनुभवी तेज गेंदबाज आर पी सिंह (48 रन देकर 2), मध्यम गति के गेंदबाज चिंतन गजा (46 रन देकर 2) और ऑफ स्पिनर रुजुल भट (5 रन देकर 2) ने 2-2, जबकि रस कलारिया और हार्दिक पटेल ने एक-एक विकेट हासिल किया। मुंबई को भी शुरू में ही सफलता मिल जाती, लेकिन पृथ्वी ने गुजरात की पारी की पहली गेंद पर स्लिप में समित गोहल (नाबाद 2) का आसान कैच छोड़ दिया। स्टंप उखड़ने के समय गोहल के साथ प्रियांक पांचाल खेल रहे हैं। उन्हें अभी अपना खाता खोलना है।
इससे पहले आरपी सिंह ने चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाले अखिल हेरवादकर (4) को देर तक नहीं टिकने दिया और 7वें ओवर में उन्हें पगबाधा आउट करके गुजरात को पहली सफलता दिलायी। पृथ्वी ने हालांकि अपनी प्रवाहमय बल्लेबाजी जारी रखी, हालांकि इस बीच भाग्य ने भी उनका साथ दिया। जब वह 25 रन पर थे तब स्लिप में उनका कैच छूटा था।  गजा को हालांकि जल्द ही सफलता मिल गयी जब उन्होंने अय्यर को विकेटकीपर पार्थिव के हाथों कैच कराया। इसके बाद पृथ्वी ने केवल 56 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया और सूर्यकुमार के साथ तीसरे विकेट के लिये 52 रन की साझेदारी की। इस युवा बल्लेबाज ने हार्दिक पटेल पर गेंदबाज के सिर के उपर से छक्का लगाया लेकिन अगली गेंद पर एक रन चुराने के प्रयास में वह रन आउट हो गये। पृथ्वी ने 93 गेंदें खेली तथा 11 चौके लगाये।
कप्तान आदित्य तारे (4) भी आते ही पवेलियन लौट गये। उन्हें हर्षल ने पहली स्लिप में कैच कराया। सूर्यकुमार को 35 रन के निजी योग पर जीवनदान मिला, जिसका फायदा उठाकर वह अर्धशतक पूरा करने में सफल रहे।
इसके बाद वह हालांकि अपनी पारी लंबी नहीं खींच पाये और गजा की गेंद पर पुल करने के प्रयास में मिडऑफ पर कैच दे बैठे। आरपी सिंह ने लाड को विकेट के पीछे कैच कराया, जिसके बाद नायर ने एक छोर संभाले रखा, लेकिन दूसरी तरफ से उन्हें सहयोग नहीं मिला। नायर आखिरी बल्लेबाज के रुप में पवेलियन लौटे। उन्होंने कलारिया की बाउंसर को हुक करने के प्रयास में पार्थिव को कैच थमाया।


Comments Off on 228 रन पर सिमटी 41 बार की चैंपियन मुंबई
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.