शादी समारोह से बच्चे ने चुराया 3 लाख का बैग !    फर्जी अंगूठा लगाकर मनरेगा के खाते से उड़ाये लाखों !    गुरु की तस्वीरों पर प्रकाश अाभा न दिखाने पर एतराज !    हरियाणा में 2006 के बाद के कर्मियों को भी ग्रेच्युटी !    पहले दिया समर्थन, अब झाड़ा पल्ला !    सप्ताह भर में न भरा टैक्स तो टावर होंगे सील !    पेंशन की दरकार, एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन !    परियोजना वर्करों की देशव्यापी हड़ताल कल !    आईएस का हाथ था कानपुर रेल हादसे में !    आज फिर चल पड़ेगी नेताजी की कार !    

खुला पन्ना › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
हम विवेकानंद से अप्रभावित क्यों हैं?

हम विवेकानंद से अप्रभावित क्यों हैं?

काॅफी पर गपशप हरीश खरे बृहस्पतिवार को मुझे ग्रामीण एवं औद्योगिक विकास शोध केंद्र (क्रिड) के डॉ. कृष्ण चंद ने बताया कि उस दिन स्वामी विवेकानंद की जयंती थी। डॉ. कृष्ण चंद ने बड़ी उत्सुकता के साथ मुझे उन द्वारा संपादित '‘रेलेवेंस ऑफ स्वामी विवेकानंद इन कंटेम्परेरी इंडिया’ नामक पुस्तक की प्रति ...

Read More

पसंद का नेता तय करने का समय

पसंद का नेता तय करने का समय

काॅफी पर गपशप हरीश खरे पंजाब का मतदाता अगले पांच साल के लिए अपने हुक्मरान चुनने के लिए 4 फरवरी को मतदान करेगा। क्या ये मतदाता सहजता के साथ ईमानदार विकल्प चुन पाने के प्रति आश्वस्त होगा? एक नागरिक के नज़रिए से कहें तो यह बात बहुत महत्वपूर्ण है कि पंजाब में चुनाव ...

Read More

फिर से दायित्व निभाने का समय

फिर से दायित्व निभाने का समय

काॅफी पर गपशप हरीश खरे हमने एक और नये साल में प्रवेश किया है और भले ही हम नये साल का जश्न मना रहे हैं लेकिन फिर भी हमें अपने गणतंत्र और लोकतांत्रिक संस्थानों को दरपेश चुनौतियों के प्रति दोगुना जागरूक रहना होगा। मीडिया के लिए विशेषकर नया साल बहुत ही कठिन ...

Read More

जीवन नये सिरे से जीने की कला...

जीवन नये सिरे से जीने की कला...

काॅफी पर गपशप हरीश खरे दिल्ली के उप-राज्यपाल नजीब जंग ने एक बहुत ही ‘अ-भारतीय’ काम कर डाला : उन्होंने एक काफी महत्वपूर्ण काम छोड़ दिया। दिल्ली के राज निवास को छोड़ने के पीछे उन्होंने जो कारण बताया, वह भी एक बार फिर ‘अ-भारतीय’ ही है: वह अपने परिवार के साथ वक्त ...

Read More

वे कभी रिटायर क्यों नहीं होते?...

वे कभी रिटायर क्यों नहीं होते?...

काॅफी पर गपशप हरीश खरे कुछ द नि पूर्व, एक बेहद असामान्य घटना घटी। एक प्रधानमंत्री ने यूं ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस हफ्ते के शुरू की यह घटना न्यूजीलैंड की है, जहां प्रधानमंत्री जाॅन की ने बड़े ही सादगी भरे अंदाज में अपने देश-वािसयों को कहा कि ‘अाठ ...

Read More

मोहन भागवत से मिले उद्धव ठाकरे, राजनाथ

मोहन भागवत से मिले उद्धव ठाकरे, राजनाथ

नागपुर, 4 दिसंबर (एजेंसी) केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने आज यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से भेंट की।  आज सुबह यहां पहुंचने के बाद ठाकरे आरएसएस मुख्यालय गए जहां उन्होंने भागवत से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच लगभग एक घंटे चली बैठक ...

Read More

इंसाफ के लिए मंत्री के घर पर प्रदर्शन

इंसाफ के लिए मंत्री के घर पर प्रदर्शन

गुरुग्राम, 4 दिसंबर (हप्र) पांच साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में पीड़ित परिवार के लिए न्याय की मांग करते हुए कई सामाजिक संगठनों ने पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर के आवास के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि पुलिस पूरे प्रकरण में लापरवाही बरत रही ...

Read More


कुआं पूजने के साथ याद रखें कुआं-तालाबों की कीमत

Posted On April - 10 - 2016 Comments Off on कुआं पूजने के साथ याद रखें कुआं-तालाबों की कीमत
उपेंद्र पाण्डेय यह हरियाणा के किसी गांव का नहीं, रेवाड़ी नगर की कहानी है। कहानी कुएं को लेकर विवाद से शुरू हुई और इतना आगे बढी कि अखबारों की सुर्खी बन गई। कुओं का खबरों में छाना अच्छी बात है, किंतु इस कहानी का कुएं के उस गुण से कोई नाता नहीं है जिसके लिए कुओं का निर्माण किया गया था। यह किस्सा है कुआं पूजन का। कुआं एक और पूजन करने वाले दो परिवार। दोनो में कुएं के पानी को लेकर नहीं उसके 

मौसम ने झाड़ दिये बौर, इस बार कम मिलेगा आम

Posted On April - 10 - 2016 Comments Off on मौसम ने झाड़ दिये बौर, इस बार कम मिलेगा आम
सुरेंद्र मेहता हरियाणा के लोगों को इस बार आम कम खाने को मिल सकता है। इस बार आम की फसल पिछले साल से तीस फीसदी कम होने की उम्मीद है। अगर मौसम में बहुत ज्यादा परिवर्तन न हुआ तो 70 प्रतिशत आम लोगों को मिलेगा, वैसे मौसम के खराब होने से आम को और भी नुकसान हो सकता है। हरियाणा के अन्य इलाकों के मुकाबले सबसे ज्यादा आम यमुनानगर जिला में होता है। यहां का तैयार आम देश की राजधानी दिल्ली, अजमेर, लुधियाना, 

अब मधुमक्खियां भी सेब के बगीचों में कर रही हैं काम

Posted On April - 10 - 2016 Comments Off on अब मधुमक्खियां भी सेब के बगीचों में कर रही हैं काम
कमलजीत चौहान अब मधुमक्खियां भी किराए पर दिहाड़ी कर रही हैं। किराए की मधुमक्खियों की मांग आ रही है सेब के बागान से। मधुमक्खी पालन के जानकार सेब बागान में हनी बाक्स रखकर असली सेब की शहद घर ले जा रहे हैं साथ ही सेब बागान मालिकों से ले रहे हैं मधुमक्खी उनके बाग में रखने का किराया। हिमाचल प्रदेश में सेब के बागवान परागण के लिए मौनवंश 500-800 रूपये प्रति मौनवंश की दर से फूल खिलने की अवधि के 

एक असहाय महिला की हत्या में शान कैसी…

Posted On April - 10 - 2016 Comments Off on एक असहाय महिला की हत्या में शान कैसी…
काॅफी पर गपशप हरीश खरे लुधियाना में 85 साल की बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी गई। पिछले सोमवार एक हमलावर ने पांव छूने के बहाने दनादन कई गोलियां नामधारी समुदाय की गुरुमाता चांद कौर पर चलाकर उनकी हत्या कर दी। यह घटना लगभग वैसे ही अंजाम दी गई जिस तरह 30 मई, 1948 को नाथू राम गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की थी। कहा जा रहा है कि माता चांद कौर की हत्या का संबंध नामधारी समुदाय में ‘गद्दी’ 

सौर ऊर्जा की लक्ष्मणरेखा, खेत की मेड़ भी छुआ तो लगेगा करेंट

Posted On April - 3 - 2016 Comments Off on सौर ऊर्जा की लक्ष्मणरेखा, खेत की मेड़ भी छुआ तो लगेगा करेंट
ज्ञान ठाकुर जंगली जानवरों और आवारा पशुओं द्वारा फलों और फसलों को नुकसान पहुंचाने की समस्या से परेशान हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों के किसानों और बागवानों के लिए राहत भरी खबर है। सोलर पैनलों की मदद से खेत में ही तैयार सौर ऊर्जा से अब खेतों को बिजली के साथ ऐसी अभेद्य बाड़ भी मिलेगी जिसे कोई जानवर लांघ नहीं सकेगा। हिमाचल प्रदेश ने इस 

देसी खाद व मुच्छल धान ने दिलाया कृषि कर्मण अवार्ड

Posted On April - 3 - 2016 Comments Off on देसी खाद व मुच्छल धान ने दिलाया कृषि कर्मण अवार्ड
पीबी वन मुच्छल धान की औसतन पैदावार 70 से 75 मण प्रति एकड़ होती है। लेकिन गोबर की देसी खाद का प्रयोग, जमीन की लेवलिंग, उचित बीज उपचार और कृषि अधिकारियों व वैज्ञानिकों की सलाहों को मानकर हिसार के बीड़ बबरान गांव के किसान शमशेर ने 102 से 103 मण प्रति एकड़ की पैदावार ली और कृषि कमर्ण किसान बन गए। हम यहां बात कर रहे हैं उन्हीं प्रगतिशील किसान शमशेर की जिनको भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) 

घटतौली और ठगी से बचना है तो ‘जे फार्म’ पर ही बेंचें गेहूं

Posted On April - 3 - 2016 Comments Off on घटतौली और ठगी से बचना है तो ‘जे फार्म’ पर ही बेंचें गेहूं
उपेंद्र पाण्डेय यमुनानगर से मोहम्मद जुबैर, अंबाला साहा से जोगिंदर सिंह और परसुराम, खरखौंदा व करनाल से दिनेश कुमार और महेंद्र सिंह समेत हरियाणा के कई किसानों ने गेहूं खरीद के रेट, गेहूं बेचते समय जे फार्म की जरूरत और उसकी उपयोगिता व नमी के कारण की जाने वाली कटौती से निजात पाने के उपाय जानना चाहा है। कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ व खाद्य आपूर्ति मंत्री खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री कर्णदेव 

ज्यादा बिगड़ैल होते हैं राजनेताओं के बच्चे…

Posted On April - 3 - 2016 Comments Off on ज्यादा बिगड़ैल होते हैं राजनेताओं के बच्चे…
काॅफी पर गपशप हरीश खरे पिछले दिनों समाचारपत्रों में खबर छपी कि जालंधर पुलिस ने शहर के मेयर के युवा बेटे के खिलाफ केस दर्ज किया है। मेयर के बेटे का दोष यह था कि वह घमंडी अंदाज में सड़क के एकदम बीचों-बीच अपनी कार खड़ी कर चला गया था। शायद वहां आसपास पािर्कंग के लिए आसानी से जगह उपलब्ध नहीं थी, और यदि आप मेयर के बेटे हैं तो आपके अवचेतन मन में स्वत: अधिकार की यह भावना तो घर 

मौसम से बाजार तक का हाल अब किसानों के मोबाइल पर

Posted On March - 28 - 2016 Comments Off on मौसम से बाजार तक का हाल अब किसानों के मोबाइल पर
उपेंद्र पाण्डेय उपेंद्र पाण्डेय बाज़ार का हाल क्या है? मंडियों में मंदी है या तेजी? इन दिनों अच्छी फसल का क्या दौर चल रहा है? किस रोग और किस फसल के लिए दवाइयां कौन-सी उपयुक्त होंगी या मौसम कैसा रहेगा? किसानों से लेकर कृषि कारोबार में लगे लोगों तक के सवाल और शंकाएं इन्हीं आम सवालों के इर्द-गिर्द घूमती हैं और सही जवाब पाने के लिए भटकना प़ड़ता है इधर उधर। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 

रासायनिक विष से खेती को निजात दिला सकती है गाय

Posted On March - 28 - 2016 Comments Off on रासायनिक विष से खेती को निजात दिला सकती है गाय
गौ भक्त के रूप में किसान जैविक खेती करते हुए रसायनमुक्त फसल का उत्पादन कर सकता है। गाय के गोबर व मूत्र से बढिय़ा जैविक खाद तैयार करते हुए खेतों में डाली जा सकती है। हरियाणा के पशुपालन मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने किसानों को यह सलाह दी है कि वे खेती और गाय के संबंध को और प्रगाढ़ करें। कृषि मंत्री ने कहा कि गाय के दूध से निर्मित घी, मक्खन, दही, छाछ आदि को अर्थव्यवस्था से जोडऩा जरूरी है। उन्होंने 

गन्ने की ‘सिंगल बड’ बिजाई से चौथाई हुई बीज की लागत

Posted On March - 28 - 2016 Comments Off on गन्ने की ‘सिंगल बड’ बिजाई से चौथाई हुई बीज की लागत
कुरुक्षेत्र से महेंद्र सिंह बीस साल से गन्ने की खेती कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह सही है कि सरकार गन्ने की कीमत लगातार बढाती जा रही है, किंतु यह भी सत्य है कि जैसे जैसे गन्ने की कीमत बढ रही है लागत हर साल उससे कहीं ज्यादा बढ जाती है। लिहाजा किसान तो फायदे में फायदे के सपने और रुपये में दिखने वाले मुनाफे के चक्कर में ही घूमता परेशान रहता है। इंद्री से सोहनलाल, बरवाला से गजेंद्र बहादुर 

क्यों हिंसक हो रहा हमारा समाज?

Posted On March - 28 - 2016 Comments Off on क्यों हिंसक हो रहा हमारा समाज?
काॅफी पर गपशप हरीश खरे पेशे से दंत चिकित्सक डा. पंकज नारंग पश्चिमी दिल्ली में प्रेक्टिस करते थे। पिछले दिनों उनकी हत्या कर दी गई। क्रिकेट की गेंद को लेकर हुई मामूली-सी बहस का अंत एक हिंसक एवं भयावह मौत के रूप में हुआ। यहां सवाल यह है कि उन्हें मौत का शिकार क्यों होना पड़ा? हमें इस सवाल का जवाब कभी नहीं मिलेगा। डा. नारंग यदि भारत के किसी और शहर, मान लीजिए बठिंडा 

धान-गेहूं के फसल चक्र से बाहर निकलें किसान

Posted On March - 20 - 2016 Comments Off on धान-गेहूं के फसल चक्र से बाहर निकलें किसान
धान और गेहूं के फसल चक्र में उलझे किसान अपने खर्चे भी बढा रहे हैं और रसायनों के अंधाधुंध इस्तेमाल से उनकी मिट्टी भी खराब हो रही है। आज जरूरत इस बात ही है कि किसान हरी खाद की खेती भी करें और गोबर व प्राकृतिक खाद के प्रयोग को दें बढावा। पंजाब कृषि विश्व विद्यालय में लगे किसान मेले में उपकुलपति डा० बलदेव सिंह ढिल्लों ने इन्हीं शब्दों में किसानों को खेती के धान – गेहूं के चक्र से निकल कर 

किसानों को मुआवजे का गया जमाना अब तो फसल बीमा ही सहारा

Posted On March - 20 - 2016 Comments Off on किसानों को मुआवजे का गया जमाना अब तो फसल बीमा ही सहारा
उपेन्द्र पाण्डेय हांसी हिसार से श्याम कुमार, सिवानी मंडी से प्रताप चौहान, सिरसा से जोगिंदर सिंह व जगवंती, जुलाना और जींद से सुभाष और दमयंती को समझ नहीं आ रहा है कि कपास के मुआवजे को लेकर किसानों के साथ भेदभाव क्यों किया गया। उनका कहना है कि जिन किसानों ने 15 एकड़ मे कपास लगाई और सारी कपास बरबाद हो गई उन्हें भी उतना ही मुआवजा मिला, जितना छह एकड़ फसल के लिए। किसानों का कहना है कि अफसर 

शोधित बीजों और हरी खाद के बल पर सोना उपजाया सोना ने

Posted On March - 20 - 2016 Comments Off on शोधित बीजों और हरी खाद के बल पर सोना उपजाया सोना ने
अरविंद शर्मा पारंपरिक खेती के अनुभव और सूझबूझ में आधुनिकता का तड़का लग जाये तो खेत सोना जरूर उगलेगा। यमुनानगर जिले के गांव हरेवा की महिला किसान सोना देवी को यह भरोसा था। लेकिन यह नहीं पता था कि अपने खेतों को दिनरात बच्चों की तरह देखने-संभालने की उनकी आदत उन्हें एक दिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के मंच तक पहुंचा देगी। शनिवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सोना देवी को दिल्ली 

हम भगत सिंह को याद क्यों नहीं रखते?

Posted On March - 20 - 2016 Comments Off on हम भगत सिंह को याद क्यों नहीं रखते?
काॅफी पर गपशप हरीश खरे दो दिन बाद 23 मार्च को देश भगत सिंह का शहीदी दिवस मना रहा होगा। इस रस्म अदायगी के बाद फिर पूरा साल भगत सिंह को भूल-भाल जायेंगे। शायद हम उन्हें याद ही नहीं रखना चाहते। भगत सिंह हमारी चेतना अौर इतिहास में किस रूप में याद रखे जायें, यह हम अभी तक तय नहीं कर पाये हैं। बस इतना भर है कि एक युवक था जो कि अपनी उम्र के हिसाब से कहीं अधिक बुद्धिमान अौर बेइंतहा बहादुर था। उसे 

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.