शादी समारोह से बच्चे ने चुराया 3 लाख का बैग !    फर्जी अंगूठा लगाकर मनरेगा के खाते से उड़ाये लाखों !    गुरु की तस्वीरों पर प्रकाश अाभा न दिखाने पर एतराज !    हरियाणा में 2006 के बाद के कर्मियों को भी ग्रेच्युटी !    पहले दिया समर्थन, अब झाड़ा पल्ला !    सप्ताह भर में न भरा टैक्स तो टावर होंगे सील !    पेंशन की दरकार, एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन !    परियोजना वर्करों की देशव्यापी हड़ताल कल !    आईएस का हाथ था कानपुर रेल हादसे में !    आज फिर चल पड़ेगी नेताजी की कार !    

राजरंग › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
बड़े काम की ‘छोटी सरकार’

बड़े काम की ‘छोटी सरकार’

देश की नजरें फरवरी में होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों पर हैं, लेकिन अगले तीन महीने में 2 और अहम चुनाव हैं। बीएमसी यानी बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन और दिल्ली नगर निगम का। देश की आर्थिक राजधानी, बॉलीवुड सितारों व वीवीआईपीज के नगर मुंबई की बागडोर बीएमसी ही संभालती ...

Read More

फरवरी भारी शिवसेना-भाजपा में दरार

फरवरी भारी शिवसेना-भाजपा में दरार

बीएमसी चुनाव के दौरान इस बार कई वर्षों से गठबंधन करके चुनाव लड़ने वाली पार्टियां अलग-अलग ताल ठोक सकती हैं। भाजपा और शिवसेना गठबधंन में खींचतान चल रही है। उद्धव ठाकरे कई बार गठबंधन तोड़ने की धमकी दे चुके हैं और खासकर बीएमसी चुनाव को लेकर ये पहले ही ऐलान कर ...

Read More

5 राज्य, 5 चुनाव; 5 मुख्यमंत्री  कौन?

5 राज्य, 5 चुनाव; 5 मुख्यमंत्री कौन?

5 राज्य-पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर। चुनाव का बिगुल बज चुका है। सभी दलों की तैयारियां जोरों पर हैं। लगभग एक महीने चलने वाले चुनाव के लिए सभी पार्टियों के उम्मीदवार तय हैं। कुछ ने सूची घोषित कर दी है। कुछ की बाकी है। कहीं बगावत है। कहीं ...

Read More

अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियां

अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियां

मुलायम परिवार में चल रहे ‘दंगल’ को देखकर इतिहास की वह घटना याद आ जाती है जब हुमायूं की मौत के बाद अकबर का राज्यारोहण हुआ था। उस समय अकबर की उम्र 14 साल थी। अकबर को गद्दी पर बैठाकर बैरम खां, जिन्हें अकबर बाबा कहते थे, ने सत्ता अपने ...

Read More

सिद्धू दंपति में से एक ही लड़ेगा चुनाव

सिद्धू दंपति में से एक ही लड़ेगा चुनाव

हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुईं पूर्व सांसद व पूर्व कि्रकेटर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी और नवजोत सिद्दू में से एक ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। हालांकि सिद्धू अभी औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं। लेकिन उनकी पत्नी ने ऐलान किया है कि वे चुनाव नहीं ...

Read More

आप में भी सियासी परिवार

आप में भी सियासी परिवार

अभी केजरीवाल ही चेहरा आम आदमी पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। पंजाब में अब तक किसी स्थानीय चेहरे को मुख्यमंत्री के रूप में पेश नहीं किया है। अभी तो अरविंद केजरीवाल ही पार्टी के चेहरा बने हुए हैं। दिल्ली चुनाव की ही रणनीति अपनाते हुए केजरीवाल ने जिस ...

Read More

परिवार और पार्टी

परिवार और पार्टी

पंजाब में चुनावी बिसात बिछ चुकी है। पंजाब के चुनाव का असर देश की सियासत पर भी पड़ना तय है। लगातार चुनावी हार का सामना करती आ रही कांग्रेस को वापसी की उम्मीद पंजाब से ही है। कैप्टन अमरेंद्र सिंह खुद कह चु्के हैं कि उनका यह अंतिम चुनाव होगा। ...

Read More


ठंडी वादियों में गर्माया सियासी खेल

Posted On April - 2 - 2016 Comments Off on ठंडी वादियों में गर्माया सियासी खेल
हिमाचल ज्ञाान ठाकुर    हिमाचल में खेल पर सियासी ‘खेल’ हो रहा है। धर्मशाला में भारत-पाकिस्तान के बीच टी-20 वर्ल्डकप का आयोजन नहीं हो सका। इसे लेकर वीरभद्र सिंह की कांग्रेस सरकार और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के बीच छिड़ी सियासी जंग अब व्यक्ति विशेष की जंग बन कर रह गयी है। पहले मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ सीबीआई जांच शुरू हुई और अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा हाल 

अपनों की वजह से फड़नवीस की किरकिरी

Posted On April - 2 - 2016 Comments Off on अपनों की वजह से फड़नवीस की किरकिरी
इरा झा महाराष्ट्र महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस फजीहत में हैं। अपने महाधिवक्ता रहे श्रीहरि एणै की वजह से राजनीतिक गलियारों में बड़ी किरकिरी हुई है। यहां तक कि सरकार में उनका सहयोग कर रही शिवसेना भी उनके खिलाफ खड़ी हो गयी है। एणै ने अपने पद से इस्तीफा तो दे दिया है, लेकिन उसके मंजूर होने की अब तक पुष्टि नहीं हुई है। वैसे भी इस्तीफा दे देने भर से मुख्यमंत्री 

खोई जमीन तलाश रहा अकाली दल

Posted On April - 2 - 2016 Comments Off on खोई जमीन तलाश रहा अकाली दल
हमीर सिंह पंजाब में अगले साल चुनाव होने हैं। इसकी तैयारियों में जुटा सत्ताधारी शिरोमणि अकाली दल अपनी खोई ज़मीन तलाश रहा है। उग्रवाद के बाद खुद को पंजाबी पार्टी में तबदील करने वाले दल को अब पंथक और किसान हितैशी पार्टी बनने की रणनीति रास आती दिखाई दे रही है। इसके तहत अकाली-भाजपा सरकार ने अपने आखिरी बजट सत्र के दौरान सतलुज-यमुना लिंक नहर (एसवाईएल), कृषि ऋण सेटलमेंट कानून  और गुरु ग्रंथ 

घुसपैठ के शस्त्र से कांग्रेस पर पलटवार

Posted On March - 26 - 2016 Comments Off on घुसपैठ के शस्त्र से कांग्रेस पर पलटवार
अरुण नैथानी     असम अगले कुछ महीनों में जिन राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, उनमें असम से भाजपा को सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं। उसके चुनाव अभियान में तेजी भी है। पार्टी ने स्थानीय दलों असम गण परिषद व एक बोडो गुट से समझौता करके कांग्रेसी विरोधी मतों के विभाजन को रोकने की कारगर कोशिश की है। हालांकि अपनी दो दिवसीय असम यात्रा की पहली चुनावी रैली में प्रधानमंत्री ने 

दलित और सत्ता

Posted On March - 26 - 2016 Comments Off on दलित और सत्ता
विनय ठाकुर तमिलनाडु तमिलनाडु में सूरज के पारे के साथ सियासी पारा भी चढ़ गया है। दिनदहाड़े एक दलित युवक की हत्या ने इस पारे को और चढ़ा दिया है। इस मामले ने सियासी रूप इसलिए भी लिया कि दलित युवक की हत्या ओबीसी युवती के साथ शादी करने के कारण की गयी। उधर, एक राष्ट्रीय पार्टी के नेता पेरियार को दलित विरोधी बताने से भी मामला गरमा गया है। चुनावी मौसम में हुई इस हत्या से राजनीतिक 

चुनावी जोड़तोड़ में लगीं ममता

Posted On March - 26 - 2016 Comments Off on चुनावी जोड़तोड़ में लगीं ममता
इरा झा पश्चिम बंगाल मांमाटी मानुष की रक्षा के मुद्दे पर पांच साल राज कर चुकी तृणमूल  कॉंग्रस दोबारा विधानसभा चुनाव जीतने के लिए इस बार चुनावी जोड़-तोड़ पर उतारू है। अपने विरोधी कांग्रेस, वाम मोर्चा और भाजपा की तर्ज पर ममता बनर्जी भी उम्मीदवारों का चयन उनकी जिताऊ क्षमता के आधार पर कर रहीं हैं। लंबे राजनीतिक संघर्ष के बाद पश्चिम बंगाल से वाम मोर्चा को सत्ता से उखाड़ने में 

नया नहीं है उत्तराखंड का सियासी ड्रामा

Posted On March - 26 - 2016 Comments Off on नया नहीं है उत्तराखंड का सियासी ड्रामा
एसएमए काज़मी उत्तराखंड त्तराखंड में कांग्रेस की हरीश रावत सरकार से उसके 9 विधायकों की बगावत के बाद जो राजनीतिक ड्रामा शुरू हुआ है, वह इस राज्य के संक्षिप्त इतिहास में नया नहीं है। राजनीतिक अस्थिरता, षड्यंत्र, मतभेद, खुलेआम चुनौती का यह खेल तभी से शुरू हो गया था, जब 9 नवंबर 2000 को उत्तर प्रदेश से अलग होकर यह नया राज्य बना था। इसके बाद के 15 वर्षों में यह राज्य अब तक 

सियासी स्वार्थ की लिंक नहर

Posted On March - 19 - 2016 Comments Off on सियासी स्वार्थ की लिंक नहर
मोहाली के फेज-3 में आम घरों की कतार में एक खास घर, जिसके बाहर लगी है अवताराशीष की नेमप्लेट। इस घर और घर की रौनक 26 वर्ष की दिव्या आज बेहद उदास है। उसकी उदासी की कहानी एसवाईएल की कहानी से सीधे जुड़ी हुई है। एस‍वाईएल मतलब सतलुज यमुना लिंक नहर। दिव्या को बार-बार याद आ रहे हैं नाना अवतार सिंह औलख। दिव्या कभी निहारती है ड्राइंगरूम में लगी औलख की बड़ी सी फोटो की आंखों में तो कभी गेट पर जाकर 

चुनाव में धनबल, बाहुबल की जीत

Posted On March - 13 - 2016 Comments Off on चुनाव में धनबल, बाहुबल की जीत
उत्तर प्रदेश बृजेश शुक्ल उत्तर प्रदेश विधान परिषद के चुनाव में समाजवादी पार्टी ने विपक्षियों को चारांे खाने चित्त कर दिया। भाजपा का खाता भी नहीं खुला। कांग्रेस सिर्फ रायबरेली जीत सकी। बसपा के सिर्फ दो प्रत्याशी जीते। अब चुनाव में धाधली के आरोप लग रहे है, लेकिन कठघरे में सिर्फ सपा ही नहीं है। जो सत्ता में रहा उसने भी यही सब किया, जो आरोप वे सपा पर लगा रहे हैं। यह तो सभी को पता था 

कांग्रेस-माकपा की दोस्ती में दरार

Posted On March - 13 - 2016 Comments Off on कांग्रेस-माकपा की दोस्ती में दरार
पश्चिम बंगाल इरा झा पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही कांग्रेस और माकपा में चुनावी समझौते की मशक्कत खटाई में पड़ सकती है। इन दोनों के बीच चुनावी समझ की चर्चा लंबे अरसे से चली आ रही थी। कांग्रेस और माकपा चुनाव की घोषणा के बहुत पहले पिछले साल से सीटों के तालमेल पर बात कर रहे थे। वाममोर्चा सरकार के चार दशक के राज के बाद ममता बनर्जी पिछले चुनाव में जिस तरह बड़ी ताकत 

सिनेमा और सत्ता

Posted On March - 13 - 2016 Comments Off on सिनेमा और सत्ता
तमिलनाडु विनय ठाकुर तमिलनाडु में चुनाव की तारीख घोषित होते ही सत्ता पाने की चाह रखने वाले सभी ‘नेताओं’ ने राजनीतिक बिसात पर चालें चलनी शुरू कर दी हैं। अब सभी अपने पत्ते खोलने लगे हैं। तमिल सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता विजय ने सप्ताह भर पहले घोषणा की कि वे इस बार चुनाव की बजाय फिल्मों पर ध्यान लगाएंंगे। अभिशरद कुमार पहले ही अपनी नाखुशी जाहिर कर चुनाव न या एआईडीएमके से अलग होने की 

संघ की नजरें अब पिछड़ों पर

Posted On March - 13 - 2016 Comments Off on संघ की नजरें अब पिछड़ों पर
राजस्थान इशमधु तलवार राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की अब पिछड़ों पर नजरें इनायत होती नजर आ रही हैं। संघ का कहना है कि समाज में अभी भी बहुत से पिछड़े और वंचित लोग हैं, जिन्हें आरक्षण मिलना चाहिए। यही नहीं, जातिगत समरसता के लिए संघ अब एक कुआं, एक श्मशान और एक मंदिर के सिद्धांत पर काम करना चाहता है। आरएसएस की सर्वोच्च नीति निर्धारण संस्था अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की शुक्रवार 

चुनावी रेवडि़यों के लिये अमीर भी लाइन में

Posted On March - 5 - 2016 Comments Off on चुनावी रेवडि़यों के लिये अमीर भी लाइन में
पुडुचेरी विनय ठाकुर पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी हैं। इसके साथ ही मुनादियां और फरियादी दोनों की ही सड़क पर उपस्थिति देखने लायक है। पुडुचेरी में चुनाव की घोषणा से एक दिन पहले तो राजनीति आकाओं के पास फरियादियों की इतनी भीड़ इकठ्टा हो गयी है कि उन्होंने शहर की एक प्रमुख सड़क को जाम कर दिया। पुडुचेरी में चुनावी रेवड़ियां हासिल करने की कतार में लगने वालों में 

बेपटरी कांग्रेस के लिए राहुल की मुहिम

Posted On March - 5 - 2016 Comments Off on बेपटरी कांग्रेस के लिए राहुल की मुहिम
ओडिशा इरा झा ओडिशा में कांग्रेस के छितराए दृश्य को समेटने के लिए राहुल गांधी पहल करने जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक वह राज्य में कांग्रेस की खेमेबंदी से परेशान हैं। खासतौर पर इसलिए कि आलाकमान की पसंद प्रसाद हरिचंदन को अध्यक्ष बने साल बीत चुका है और पिछले सोलह बरस से सत्ता से महरूम पार्टी में एकता होने की बजाय घमासान बहुत बढ़ गया है। पार्टी के अंदरूनी झगड़े सार्वजनिक हो रहे हैं। 

भाजपा की परीक्षा

Posted On March - 5 - 2016 Comments Off on भाजपा की परीक्षा
असम अरुण नैथानी असम के आसन्न विधानसभा चुनाव के संग्राम के लिए रणभेरियां बज गयी हैं। चुनाव आयोग ने घोषणा कर दी है कि असम में 4 और 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।असम गण परिषद के साथ चुनाव से पहले समझौता करके भाजपा ने जाहिर कर दिया है कि वह असम चुनाव के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार है। दरअसल, दिल्ली व बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार से सबक लेकर वह हर कदम सोच समझकर उठा रही है। वैसे भी इस 

बढ़ती आत्महत्याओं से जूझती सरकार

Posted On March - 5 - 2016 Comments Off on बढ़ती आत्महत्याओं से जूझती सरकार
मध्य प्रदेश श्रवण गर्ग मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में इन दिनों राजनीति के अलावा जिन अन्य विषयों पर चर्चाएं चल रही हैं वे हैं : आम आदमी की जान की सुरक्षा से जुड़े सवाल और किसानों के बाद अब विद्यार्थियों द्वारा की जा रही आत्महत्याओं के बढ़ते हुए आंकड़े। शुरुआत अगर आम आदमी की सुरक्षा से करें तो जो कुछ भी हो रहा है वह समूची सरकार और उसके प्रशासनिक तंत्र को कठघरे में ही खड़ा करता है। एक 

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.