असल जिंदगी का रूप है सिनेमा : अख्तर !    नहीं रहे प्रसिद्ध उर्दू गीतकार लायलपुरी !    पूर्व सीबीआई प्रमुख की रिपोर्ट पर फैसला आज !    अकाली दल के कई नेता कांग्रेस में शामिल !    2 गोल्ड जीतकर लौटी फरीदाबाद की बेटी !    जेसी कालेज की लड़कियों ने मारी बाजी !    भारत का प्रतिनिधित्व करेगा दिवेश !    तेरिया ने जीता 'झलक दिखला जा' का खिताब !    पाक में मामले की सुनवाई 25 को !    विशेष अतिथि होंगे 40 आदिवासी !    

लहरें › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
रोशनी  से नहाया  नगर

रोशनी से नहाया नगर

अमिताभ स. मलेशिया की केपिटल कुआलालम्पुर पर उतरते ही एयरपोर्ट की भव्यता दंग करती है। अपने देश से दस साल बाद अगस्त 1957 को मलेशिया ब्रिटिश राज से आजाद हुआ, लेकिन वहां तरक्की की रफ्तार कहीं अधिक है। समूचे मलेशिया में बिजली और पानी की कोई कमी नहीं है। कुआलालम्पुर की ...

Read More

बुजुर्गों को कभी अकेला न छोड़ें

बुजुर्गों को कभी अकेला न छोड़ें

कार्तिक क्या आपके घर में बुजुर्ग हैं? क्या आप उन्हें अकेले रहने देते हैं? घर के कामों में शामिल नहीं करते? बातचीत में शामिल नहीं करते? यदि इन सब सवालों का जवाब हां है तो ज़रा नये शोध के नतीजे पर ध्यान दीजिये। एक शोध में यह बात सामने आयी है ...

Read More

साख पर आंच

साख पर आंच

अनूप भटनागर भ्रष्टाचार, आतंकवाद और नक्सलवाद जैसी गंभीर समस्याओं से निबटने के लिये देश में मौजूद काला धन जड़ से खत्म करने के इरादे से पांच सौ और एक हजार रूपए की मुद्रा को अमान्य घोषित करने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा का जनता ने पुरजोर स्वागत किया था। परंतु ...

Read More

उलट सियासी विचार वाले साथी संग दो पल

उलट सियासी विचार वाले साथी संग दो पल

फीचर टीम सियासत को लेकर कहा जाता है कि ये भाई-भाई, बाप-बेटे में रिश्ते खराब करा देती है। इतिहास खंगाले तो बात सौ फीसदी समझ आने लगती है। मुगल शासकों में सियासत या गद्दी को लेकर खून-खराबे हुए। आज के दौर में भी सियासी मतभेद रिश्तों में तनाव पैदा करते हैं। ...

Read More

स्ट्रीट फूड बनारस का

स्ट्रीट फूड बनारस का

स्वाद शैलेष कुमार बनारसी कपड़ों की धूम अब न केवल अपने देश में हो रही है, बल्कि विदेशों में बनारसी कपड़ों से बने ड्रेसेज रैम्प पर दिखने लगे हैं। इस शहर का ठेठ बनारसीपन लोगों को इतना लुभा रहा है कि गंगा मैया की अद्भुत आरती देखने के अलावा भी लोगों की ...

Read More

कोजी कोजी ठंड

कोजी कोजी ठंड

इंटीरियर फीचर टीम ठंड में गर्माहट का अहसास ही आधी ठंड भगा डालता है। इस अहसास को घर की डेकोरेशन में डालकर तो देखें, कोजी माहौल का नज़ारा चहुंओर पाएंगे। ज्यादा कुछ नहीं करना है। कोजी फील वाली चंद चीजों का सहारा लेना है और उन्हें कायदे से यहां-वहां रखना है। ठंड ...

Read More

मैं हूं   मीरा

मैं हूं मीरा

श्वेता रंजन कृष्ण के प्रति मीरा की भक्ति और आसक्ति अटूट थी। मीरा के रोम-रोम में कृष्ण का वास था। महलों में पली-बढ़ी, एक सुहागन मीरा ने आज से 500-600 वर्ष पहले कृष्ण की भक्ति के कारण ही सम्पूर्ण जगत के विरोध का सामना किया था। कृष्ण की भक्ति और अनुरक्ति ...

Read More


  • साख पर आंच
     Posted On January - 22 - 2017
    भ्रष्टाचार, आतंकवाद और नक्सलवाद जैसी गंभीर समस्याओं से निबटने के लिये देश में मौजूद काला धन जड़ से खत्म करने....
  • रोशनी  से नहाया  नगर
     Posted On January - 22 - 2017
    मलेशिया की केपिटल कुआलालम्पुर पर उतरते ही एयरपोर्ट की भव्यता दंग करती है। अपने देश से दस साल बाद अगस्त....
  • डाकिया थनप्पा खुशी बांचता गम छिपाता
     Posted On January - 22 - 2017
    जाने-माने साहित्यकार आरके नारायण की महान कृति ‘मालगुडी डेज’ के उन एपिसोड को याद कीजिये जो दूरदर्शन पर लंबे समय....
  • कोजी कोजी ठंड
     Posted On January - 22 - 2017
    ठंड में गर्माहट का अहसास ही आधी ठंड भगा डालता है। इस अहसास को घर की डेकोरेशन में डालकर तो....

स्मोकी फ्लेवर वाला ठेठ कुर्गी ज़ायका

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on स्मोकी फ्लेवर वाला ठेठ कुर्गी ज़ायका
बादलों से ढके-छिपे शहर में आपको सड़क किनारे रेहड़ी में सिर छुपाते यदि गरमागरम कॉफी आैर तरह-तरह की पकौड़ियां आैर वड़े खाने को मिल जाएं तो निस्संदेह ही इससे ज्यादा संतुष्टि की चाहत क्या होगी! कर्नाटक के प्रमुख पर्यटन स्थल कुर्ग का मौसम कुछ ऐसा ही रहता है, न केवल आस-पास का बल्कि खान-पान का भी। ....

सावधान! सब कुछ नहीं पचता सर्दी में

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on सावधान! सब कुछ नहीं पचता सर्दी में
आमतौर पर यह माना जाता है कि सर्दियों का मौसम खाने-पीने का मौसम है। इस मौसम में जो भी खा लो या जितना भी खा लो, सब पच जाएगा। इसीलिये लोगों के खाने की थाल में खूब तली-भुनी चीजें इस मौसम में दिख जायेंगी। इस मौसम में सब पचता है, वाली बात मानने वाले जरा सावधान हो जायें। ....

घर में एक कोना नितांत अपना

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on घर में एक कोना नितांत अपना
आपने कभी घर के पिछवाड़े आंगन में बड़े से पेड़ पर टंगा या रखा वह ट्री हाउस देखा है, जिसे बच्चों का मस्ती हाउस कहा जाता था। कुछ इसी तरह की इजाद घर की महिलाओं के लिए। कहने को तो सारा घर ही महिलाओं का, मगर पिछले आंगन का एक कोना उनका अपना, निहायत अपना। ....

यह शिष्टता का तकाज़ा है

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on यह शिष्टता का तकाज़ा है
हम अपने घर परिवार या आसपास के माहौल में लड़कों को अक्सर यह शिक्षा देते पाए जाते हैं कि महिलाओं की इज्ज्त करो, उनकी रक्षा करो। ....

तीन शहर मिज़ाज जुदा-जुदा

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on तीन शहर मिज़ाज जुदा-जुदा
नॉर्थ अमेरिका की तीन दिशाओं में तीन अलग-अलग फिजाओं से सराबोर शहर हैं-न्यूयॉर्क, लॉस वेगास और मेयामी। आज इन अमेरिकी शहरों की सैर पर चलते हैं...। ....

मंगल ग्रह को खोदा तो…

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on मंगल ग्रह को खोदा तो…
वैज्ञानिक अंतरिक्ष की जानकारी के लिए कई जतन करते हैं। इसमें वहां के वायुमंडल से लेकर जमीन और उसके नीचे की चीजों को पता लगाना शामिल है। ....

ले ले सेल्फी अलर्ट एप है ना

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on ले ले सेल्फी अलर्ट एप है ना
आपको याद होंगे दिल दहलाने वाले किस्से। मसलन, सेल्फी के चक्कर में महाराष्ट्र के नागपुर की एक झील में नाव पर सवार छात्रों की मौत हो गयी। आगरा में ताजमहल के सामने एक जापानी पर्यटक सेल्फी लेने के दौरान सीढ़ियों से नीचे गिर गया और उसकी मौत हो गई। ....

माइनस डिग्री पारे के बीच

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on माइनस डिग्री पारे के बीच
लद्दाख जाने का बेहतरीन समय शुरू होता है अब। जब उत्तर से लेकर दक्षिण तक से लेह में टिड्डी दल की तरह उतरे मुसाफिर बाइकर्स लौट जाते हैं। जब बाज़ार खाली होने लगते हैं, होटल बंद होने लगते हैं, यहां तक कि कुछ लद्दाखी भी गरम जगहों का रुख करने लगते हैं — सर्दियों के वो महीने अब लद्दाख में उतर चुके हैं। ....

घर का वो माडर्न लुक

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on घर का वो माडर्न लुक
या आप अपने घर को माडर्न लुक में सजाना चाहते हैं। रेक्लाइनर जैसा माडर्न फर्नीचर इस काम में आपकी मदद कर सकता है। ....

घर के अंदर घुसी सरकार

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on घर के अंदर घुसी सरकार
अभी हाल ही में एक किस्सा सुना। शादी-ब्याह का मौसम है और नोटबंदी की चर्चा सभी चर्चाओं से ऊपर। यूपी में ऐसी ही एक शादी के दौरान यह किस्सा सुनने को मिला कि नेपाल की तराई में बहराइच जिले के किसी गांव में एक औरत ने नोटबंदी के चक्कर में अपना घर गिरा ही डाला। ....

पति-पत्नी और पैसा

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on पति-पत्नी और पैसा
पति-पत्नी संबंधों में खटास के कई कारणों में से एक है पैसा। दोनों में एक अगर पैसे को खुलकर खर्च करने वाला और दूसरा 'चमड़ी जाए पर दमड़ी न जाए' पर अमल करने वाला हो तो फिर संबंधों की नैया कैसे पार लगे? आपको उन टिप्स की जानकारी होनी चाहिए कि कैसे संबंध पर आंच आए बिना आप अपने पार्टनर से पैसों पर खुलकर बात ....

कमाल के साबरी

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on कमाल के साबरी
कहते हैं, संगीत में ऐसी ताकत है जो अंधेरे को उजियारे में तबदील कर सकता है, पत्थर का सीना भी पिघला सकता है। जी हां, संगीत की ताकत की बाखूबी समझ रखते हैं उस्ताद कमाल साबरी। उस्ताद कमाल साबरी प्रख्यात सांरगी वादक हैं, जिन्होंने तिहाड़ जेल के कैदियों को एक साल संगीत सिखाया और फिर उनके साथ एक एलबम 'सारंगी रिडिफाईन' नाम से बनाई, जो ....

मैं सावित्री! आधी-अधूरी मैं नहीं तुम सब!

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on मैं सावित्री! आधी-अधूरी मैं नहीं तुम सब!
एक थी सावित्री। यम से पति के प्राण छुड़ा लायी। एक और सावित्री है, मोहन राकेश के आधे-अधूरे नाटक की कालजयी नायिका या यूं कहें कि नाटक का मुख्य आधार। नाटक ही नहीं, पूरे परिवार का आधार स्तंभ। नाटक के आदि से लेकर अंत तक सक्रिय। वह भी लड़ती है, मगर यम से नहीं, अपने पति से। वह भी प्राण छुड़ाना चाहती है, मगर खुद ....

गोवा की फिश डिश

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on गोवा की फिश डिश
नए साल का आगाज बस होने ही वाला है। यही वह समय है, जब लोग गोवा की ओर भागते हैं। रोजाना की भागदौड़ गोवा के बीच पर जाकर छूमंतर हो जाती है। जिंदगी हसीन लगने लगती है आैर डिप्रेशन काफूर हो जाता है। गोवा अभी शाहरुख खान की फिल्म 'डियर जिंदगी' आैर क्रिकेटर युवराज सिंह की शादी के लिए भी खबरों में सबसे ऊपर रहा ....

सूना-सूना था गांधी आश्रम

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on सूना-सूना था गांधी आश्रम
गांधी जी के प्राइवेट सेक्रेटरी श्री महादेव देसाई वर्धा में मौजूद नहीं थे। उनकी जगह काम कर रहे थे श्री किशोरीलाल मशरूवाला। उनसे मिलकर गांधी जी के दर्शन की प्रार्थना करने पर उत्तर मिला कि कायदे से हमें पहले समय निश्चित कर लेना चाहिए था। अपनी गलती स्वीकार की और फिर भी प्रार्थना की कि बहुत दूर से आए हैं, फिर आ सकने के अवसर ....

गाती वायलिन नंदिनी की

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on गाती वायलिन नंदिनी की
तीन साल की नन्ही उम्र में ही नंदिनी शंकर का परिचय बेला यानी वायलिन से हुआ। उम्र भले ही छोटी थी, लेकिन बेला से निकलने वाली खूबसूरत ध्वनि से बाखूबी परिचित थीं नंदिनी। हो भी क्यों ना, संगीत के उच्च घराने से ताल्लुक रखने के कारण पैदा होते ही नंदिनी वायलिन की आवाज़ से हमसाज़ हो गयी थीं। ....
Page 4 of 22512345678910...Last »

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.