एकदा !    सबरीमाला मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी !    सपा प्रत्याशी ने लिया नाम वापस !    सुप्रीम कोर्ट की शरण में प्रजापति गिरफ्तारी पर रोक की अर्जी !    गुजरात के तो गधों का भी होता है प्रचार !    दलित की बेटी हेलीकॉप्टर में घूमे, मोदी को अच्छा नहीं लगता !    बहुजन से बहनजी तक सिमटी बसपा : मोदी !    दहेज लोभी को नकारा, इंजीनियर से रचायी शादी !    गैंगस्टर के 4 अौर समर्थक गिरफ्तार !    मेट्रो महिला ने किया आत्महत्या का प्रयास !    

लहरें › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
रोचक

रोचक

विटामिन 'ए' जरूर लें कार्तिक यूं तो गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक भोजन दिये जाने की सख्त जरूरत होती है। लेकिन अब डॉक्टरों से सलाह लेकर आपको उन्हें भरपूर विटामिन 'ए' भी देना होगा। ताजा शोध में यह सामने आया है कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा पर्याप्त विटामिन 'ए' नहीं लेने से ...

Read More

समुद्र चले संग-संग

समुद्र चले संग-संग

यात्रा-वृत्तांत/महाबलीपुरम केवल तिवारी इस सफर पर समुद्र की बात होती है। इस सफर पर समुद्र का ही साथ होता है। कोई इसे मंदिरों का शहर कहता है और कोई रिसाेर्ट्स का। कहे कोई कुछ भी, लेकिन यह जगह है बहुत अनूठी। जब आप यहां के सफर पर होते हैं तो लगता है ...

Read More

नन्हे का कमरा

नन्हे का कमरा

फीचर टीम उम्र में छोटे, कहने को नन्हे-मुन्ने, मगर घर का सबसे अहम सदस्य होते हैं हमारे बच्चे। इसलिए तो कहते हैं कि उनके कमरे को सजाना बच्चों का खेल नहीं। बड़ी-बड़ी जुगत भिड़ानी पड़ती है। कभी उनके आराम का ध्यान, कभी पसंद का, कभी लेटेस्ट ट्रेंड्स पर निगाह तो कभी ...

Read More

लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना

लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना

फीचर टीम हम कितने तमीज़दार या तहज़ीब के रखवाले हैं, इसका सच्चा खुलासा उस घड़ी होता है, जब हमारे सामने बैठा व्यक्ति कुछ-कुछ अशोभनीय आचरण करता है। हमारे में से बहुत सारे लोग सामने वाले की बदत्तमीजी को नज़रअंदाज़ करने को ही सही मानते हैं। दरअसल कई बार सबकुछ इतना जल्दी ...

Read More

चख ले  झारखंडी चोखा

चख ले झारखंडी चोखा

शैलेष कुमार झारखंड आैर बिहार में कई समानताएं हैं, जाहिर है खान-पान में भी हैं। बावजूद इसके झारखंड के खान-पान में कई ऐसी विशेषताएं हैं, जो इसे बिहार से अलग करती हैं। झारखंड के बारे में लोगों की यह भी सोच है कि यहां कुछ भी जायकेदार नहीं है, जबकि सच्चाई ...

Read More

साइबर अड्डे

साइबर अड्डे

अलका कौशिक छत्तीसगढ़ में महानदी के किनारे खुदाई ने सिरपुर की शक्ल में एक ऐसे शहर को उगला था, जिसमें कुएं की जगत के करीब ही ज़मीन पर स्टापू जैसे किसी खेल की लकीरें आज भी अपनी हस्ती को संभाले हुए हैं। पुरातत्वेत्ताओं का अनुमान है कि गांव-देहात की औरतें जब ...

Read More

सरकारी तंत्र में 'अनफिट' ईमानदार दारोगा

सरकारी तंत्र में 'अनफिट' ईमानदार दारोगा

नमक का दारोगा मुंशी प्रेमचंद मुंशी प्रेमचंद की कहानियां हर देश-काल-परिस्थिति पर फिट बैठती हैं। उनकी लिखी कहानी है 'नमक का दारोगा', जो आज के दौर में भी उतनी ही सटीक बैठती है, जितना अपने रचे जाने के समय में। इस कहानी के मुख्य पात्र हैं मुंशी वंशीधर। कहानी सरकारी तंत्र ...

Read More


  • साइबर अड्डे
     Posted On February - 19 - 2017
    छत्तीसगढ़ में महानदी के किनारे खुदाई ने सिरपुर की शक्ल में एक ऐसे शहर को उगला था, जिसमें कुएं की....
  • सरकारी तंत्र में ‘अनफिट’ ईमानदार दारोगा
     Posted On February - 19 - 2017
    मुंशी प्रेमचंद की कहानियां हर देश-काल-परिस्थिति पर फिट बैठती हैं। उनकी लिखी कहानी है 'नमक का दारोगा', जो आज के....
  • लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना
     Posted On February - 19 - 2017
    हम कितने तमीज़दार या तहज़ीब के रखवाले हैं, इसका सच्चा खुलासा उस घड़ी होता है, जब हमारे सामने बैठा व्यक्ति....
  • समुद्र चले संग-संग
     Posted On February - 19 - 2017
    इस सफर पर समुद्र की बात होती है। इस सफर पर समुद्र का ही साथ होता है। कोई इसे मंदिरों....

पोर-पोर में प्रेम समेटे पारो

Posted On December - 25 - 2016 Comments Off on पोर-पोर में प्रेम समेटे पारो
शरतचंद्र चट्टोपाध्याय के उपन्यास देवदास ने बॉलीवुड ही नहीं, हिंदुस्तानी प्रेमियों के लिए जैसे एक चरित्र गढ़ दिया। यूं तो लैला मजनूं, सीरी फरहाद जैसे प्रेम प्रतीक जोड़ियां पहले से विद्यमान हैं। लेकिन शरतचंद्र के उपन्यास का नायक देवदास तमाम उदास और भटके हुए प्रेमियों का नायक बन जाता है। ....

काशी की बोल उठीं दीवारें

Posted On December - 25 - 2016 Comments Off on काशी की बोल उठीं दीवारें
भोले बाबा की नगरी काशी। माना जाता है कि वाराणसी भगवान शंकर के त्रिशूल पर टिका है। लेकिन इस शहर ने तमाम उतार-चढ़ाव का सामना किया है। सांस्कृतिक संपदा और धार्मिक आस्था की विरासत संभालने वाला यह शहर ना जाने कब आधुनिकता की भेंट चढ़ गया। तमाम घाटों के साथ यहां गंदगी के ढेर लग गए। काशी की पुरानी सुंदरता में नयी जान फूंकने का ....

अभिशप्त धैर्या

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on अभिशप्त धैर्या
काल की स्याह-सफ़ेद तूलिका से चित्रित दुःख की साकार, सदेह प्रतिमाओं में से एक, अलग गोमती। हिमांशु जोशी के उपन्यास 'कगार की आग' की नायिका, धैर्य धारिणी, धरा सी सहिष्णु। ....

लहरों ने उगला एक खोया शहर

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on लहरों ने उगला एक खोया शहर
बीते दो दशकों में केरल के समुद्र तटों, बैकवॉटर्स, पहाड़ों और मसाला बागान पर्यटन को सैलानियों ने इतना खंगाला है कि अब राज्य में पर्यटन अपने रटे-रटाए मुहावरों से बाहर फिसलने को बेताब है। ....

बिरजू महाराज की नातिन भी नृत्य दीवानी

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on बिरजू महाराज की नातिन भी नृत्य दीवानी
श्वेता रंजन कत्थक नृत्य का नाम आते ही जेहन में उभर जाता है चेहरा पंडित बिरजू महाराज का। पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित बिरजू महाराज। ऐसे महान शख्स की नृत्य शैली और खूबियों को, उनकी कत्थक परंपरा को आगे ले जाने की ज़िम्मेदारी उनके बेटे और पोतियों के अलावा उनकी नातिन शिंजिनी कुलकर्णी ने भी उठाई है। नृत्य की बारीकियों को बेहद संजीदगी से सीखने वाली शिंजिनी में नृत्य के लिए प्रेम बचपन 

एक मजबूरी में गरीब, एक शौकिया

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on एक मजबूरी में गरीब, एक शौकिया
यशपाल गांधी की कुटिया के दर्शन के लिए आए थे। इसलिए फिर विनय की कि देखने से मतलब फूस की झोपड़ियां देख लेने से नहीं है। ऐसी झोपड़ियां तो अनेक अवसरों पर देखी हैं। प्रयोजन है उस विचार-धारा को जानने का, जिसके कारण आप लोग यह कष्टमय जीवन बिताना उचित समझते हैं।’ ‘हमें तो इसमें कोई कष्ट जान नहीं पड़ता?’ गांधी आश्रम के मैनेजर शाह साहब ने लेटे ही लेटे उत्तर दिया। शाह साहब ने कृपापूर्वक 

स्मोकी फ्लेवर वाला ठेठ कुर्गी ज़ायका

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on स्मोकी फ्लेवर वाला ठेठ कुर्गी ज़ायका
बादलों से ढके-छिपे शहर में आपको सड़क किनारे रेहड़ी में सिर छुपाते यदि गरमागरम कॉफी आैर तरह-तरह की पकौड़ियां आैर वड़े खाने को मिल जाएं तो निस्संदेह ही इससे ज्यादा संतुष्टि की चाहत क्या होगी! कर्नाटक के प्रमुख पर्यटन स्थल कुर्ग का मौसम कुछ ऐसा ही रहता है, न केवल आस-पास का बल्कि खान-पान का भी। ....

सावधान! सब कुछ नहीं पचता सर्दी में

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on सावधान! सब कुछ नहीं पचता सर्दी में
आमतौर पर यह माना जाता है कि सर्दियों का मौसम खाने-पीने का मौसम है। इस मौसम में जो भी खा लो या जितना भी खा लो, सब पच जाएगा। इसीलिये लोगों के खाने की थाल में खूब तली-भुनी चीजें इस मौसम में दिख जायेंगी। इस मौसम में सब पचता है, वाली बात मानने वाले जरा सावधान हो जायें। ....

घर में एक कोना नितांत अपना

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on घर में एक कोना नितांत अपना
आपने कभी घर के पिछवाड़े आंगन में बड़े से पेड़ पर टंगा या रखा वह ट्री हाउस देखा है, जिसे बच्चों का मस्ती हाउस कहा जाता था। कुछ इसी तरह की इजाद घर की महिलाओं के लिए। कहने को तो सारा घर ही महिलाओं का, मगर पिछले आंगन का एक कोना उनका अपना, निहायत अपना। ....

यह शिष्टता का तकाज़ा है

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on यह शिष्टता का तकाज़ा है
हम अपने घर परिवार या आसपास के माहौल में लड़कों को अक्सर यह शिक्षा देते पाए जाते हैं कि महिलाओं की इज्ज्त करो, उनकी रक्षा करो। ....

तीन शहर मिज़ाज जुदा-जुदा

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on तीन शहर मिज़ाज जुदा-जुदा
नॉर्थ अमेरिका की तीन दिशाओं में तीन अलग-अलग फिजाओं से सराबोर शहर हैं-न्यूयॉर्क, लॉस वेगास और मेयामी। आज इन अमेरिकी शहरों की सैर पर चलते हैं...। ....

मंगल ग्रह को खोदा तो…

Posted On December - 18 - 2016 Comments Off on मंगल ग्रह को खोदा तो…
वैज्ञानिक अंतरिक्ष की जानकारी के लिए कई जतन करते हैं। इसमें वहां के वायुमंडल से लेकर जमीन और उसके नीचे की चीजों को पता लगाना शामिल है। ....

ले ले सेल्फी अलर्ट एप है ना

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on ले ले सेल्फी अलर्ट एप है ना
आपको याद होंगे दिल दहलाने वाले किस्से। मसलन, सेल्फी के चक्कर में महाराष्ट्र के नागपुर की एक झील में नाव पर सवार छात्रों की मौत हो गयी। आगरा में ताजमहल के सामने एक जापानी पर्यटक सेल्फी लेने के दौरान सीढ़ियों से नीचे गिर गया और उसकी मौत हो गई। ....

माइनस डिग्री पारे के बीच

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on माइनस डिग्री पारे के बीच
लद्दाख जाने का बेहतरीन समय शुरू होता है अब। जब उत्तर से लेकर दक्षिण तक से लेह में टिड्डी दल की तरह उतरे मुसाफिर बाइकर्स लौट जाते हैं। जब बाज़ार खाली होने लगते हैं, होटल बंद होने लगते हैं, यहां तक कि कुछ लद्दाखी भी गरम जगहों का रुख करने लगते हैं — सर्दियों के वो महीने अब लद्दाख में उतर चुके हैं। ....

घर का वो माडर्न लुक

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on घर का वो माडर्न लुक
या आप अपने घर को माडर्न लुक में सजाना चाहते हैं। रेक्लाइनर जैसा माडर्न फर्नीचर इस काम में आपकी मदद कर सकता है। ....

घर के अंदर घुसी सरकार

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on घर के अंदर घुसी सरकार
अभी हाल ही में एक किस्सा सुना। शादी-ब्याह का मौसम है और नोटबंदी की चर्चा सभी चर्चाओं से ऊपर। यूपी में ऐसी ही एक शादी के दौरान यह किस्सा सुनने को मिला कि नेपाल की तराई में बहराइच जिले के किसी गांव में एक औरत ने नोटबंदी के चक्कर में अपना घर गिरा ही डाला। ....
Page 6 of 228« First...234567891011...Last »

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.