एकदा !    सबरीमाला मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी !    सपा प्रत्याशी ने लिया नाम वापस !    सुप्रीम कोर्ट की शरण में प्रजापति गिरफ्तारी पर रोक की अर्जी !    गुजरात के तो गधों का भी होता है प्रचार !    दलित की बेटी हेलीकॉप्टर में घूमे, मोदी को अच्छा नहीं लगता !    बहुजन से बहनजी तक सिमटी बसपा : मोदी !    दहेज लोभी को नकारा, इंजीनियर से रचायी शादी !    गैंगस्टर के 4 अौर समर्थक गिरफ्तार !    मेट्रो महिला ने किया आत्महत्या का प्रयास !    

लहरें › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
रोचक

रोचक

विटामिन 'ए' जरूर लें कार्तिक यूं तो गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक भोजन दिये जाने की सख्त जरूरत होती है। लेकिन अब डॉक्टरों से सलाह लेकर आपको उन्हें भरपूर विटामिन 'ए' भी देना होगा। ताजा शोध में यह सामने आया है कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा पर्याप्त विटामिन 'ए' नहीं लेने से ...

Read More

समुद्र चले संग-संग

समुद्र चले संग-संग

यात्रा-वृत्तांत/महाबलीपुरम केवल तिवारी इस सफर पर समुद्र की बात होती है। इस सफर पर समुद्र का ही साथ होता है। कोई इसे मंदिरों का शहर कहता है और कोई रिसाेर्ट्स का। कहे कोई कुछ भी, लेकिन यह जगह है बहुत अनूठी। जब आप यहां के सफर पर होते हैं तो लगता है ...

Read More

नन्हे का कमरा

नन्हे का कमरा

फीचर टीम उम्र में छोटे, कहने को नन्हे-मुन्ने, मगर घर का सबसे अहम सदस्य होते हैं हमारे बच्चे। इसलिए तो कहते हैं कि उनके कमरे को सजाना बच्चों का खेल नहीं। बड़ी-बड़ी जुगत भिड़ानी पड़ती है। कभी उनके आराम का ध्यान, कभी पसंद का, कभी लेटेस्ट ट्रेंड्स पर निगाह तो कभी ...

Read More

लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना

लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना

फीचर टीम हम कितने तमीज़दार या तहज़ीब के रखवाले हैं, इसका सच्चा खुलासा उस घड़ी होता है, जब हमारे सामने बैठा व्यक्ति कुछ-कुछ अशोभनीय आचरण करता है। हमारे में से बहुत सारे लोग सामने वाले की बदत्तमीजी को नज़रअंदाज़ करने को ही सही मानते हैं। दरअसल कई बार सबकुछ इतना जल्दी ...

Read More

चख ले  झारखंडी चोखा

चख ले झारखंडी चोखा

शैलेष कुमार झारखंड आैर बिहार में कई समानताएं हैं, जाहिर है खान-पान में भी हैं। बावजूद इसके झारखंड के खान-पान में कई ऐसी विशेषताएं हैं, जो इसे बिहार से अलग करती हैं। झारखंड के बारे में लोगों की यह भी सोच है कि यहां कुछ भी जायकेदार नहीं है, जबकि सच्चाई ...

Read More

साइबर अड्डे

साइबर अड्डे

अलका कौशिक छत्तीसगढ़ में महानदी के किनारे खुदाई ने सिरपुर की शक्ल में एक ऐसे शहर को उगला था, जिसमें कुएं की जगत के करीब ही ज़मीन पर स्टापू जैसे किसी खेल की लकीरें आज भी अपनी हस्ती को संभाले हुए हैं। पुरातत्वेत्ताओं का अनुमान है कि गांव-देहात की औरतें जब ...

Read More

सरकारी तंत्र में 'अनफिट' ईमानदार दारोगा

सरकारी तंत्र में 'अनफिट' ईमानदार दारोगा

नमक का दारोगा मुंशी प्रेमचंद मुंशी प्रेमचंद की कहानियां हर देश-काल-परिस्थिति पर फिट बैठती हैं। उनकी लिखी कहानी है 'नमक का दारोगा', जो आज के दौर में भी उतनी ही सटीक बैठती है, जितना अपने रचे जाने के समय में। इस कहानी के मुख्य पात्र हैं मुंशी वंशीधर। कहानी सरकारी तंत्र ...

Read More


  • साइबर अड्डे
     Posted On February - 19 - 2017
    छत्तीसगढ़ में महानदी के किनारे खुदाई ने सिरपुर की शक्ल में एक ऐसे शहर को उगला था, जिसमें कुएं की....
  • सरकारी तंत्र में ‘अनफिट’ ईमानदार दारोगा
     Posted On February - 19 - 2017
    मुंशी प्रेमचंद की कहानियां हर देश-काल-परिस्थिति पर फिट बैठती हैं। उनकी लिखी कहानी है 'नमक का दारोगा', जो आज के....
  • लुटाएं तहज़ीब का खज़ाना
     Posted On February - 19 - 2017
    हम कितने तमीज़दार या तहज़ीब के रखवाले हैं, इसका सच्चा खुलासा उस घड़ी होता है, जब हमारे सामने बैठा व्यक्ति....
  • समुद्र चले संग-संग
     Posted On February - 19 - 2017
    इस सफर पर समुद्र की बात होती है। इस सफर पर समुद्र का ही साथ होता है। कोई इसे मंदिरों....

पति-पत्नी और पैसा

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on पति-पत्नी और पैसा
पति-पत्नी संबंधों में खटास के कई कारणों में से एक है पैसा। दोनों में एक अगर पैसे को खुलकर खर्च करने वाला और दूसरा 'चमड़ी जाए पर दमड़ी न जाए' पर अमल करने वाला हो तो फिर संबंधों की नैया कैसे पार लगे? आपको उन टिप्स की जानकारी होनी चाहिए कि कैसे संबंध पर आंच आए बिना आप अपने पार्टनर से पैसों पर खुलकर बात ....

कमाल के साबरी

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on कमाल के साबरी
कहते हैं, संगीत में ऐसी ताकत है जो अंधेरे को उजियारे में तबदील कर सकता है, पत्थर का सीना भी पिघला सकता है। जी हां, संगीत की ताकत की बाखूबी समझ रखते हैं उस्ताद कमाल साबरी। उस्ताद कमाल साबरी प्रख्यात सांरगी वादक हैं, जिन्होंने तिहाड़ जेल के कैदियों को एक साल संगीत सिखाया और फिर उनके साथ एक एलबम 'सारंगी रिडिफाईन' नाम से बनाई, जो ....

मैं सावित्री! आधी-अधूरी मैं नहीं तुम सब!

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on मैं सावित्री! आधी-अधूरी मैं नहीं तुम सब!
एक थी सावित्री। यम से पति के प्राण छुड़ा लायी। एक और सावित्री है, मोहन राकेश के आधे-अधूरे नाटक की कालजयी नायिका या यूं कहें कि नाटक का मुख्य आधार। नाटक ही नहीं, पूरे परिवार का आधार स्तंभ। नाटक के आदि से लेकर अंत तक सक्रिय। वह भी लड़ती है, मगर यम से नहीं, अपने पति से। वह भी प्राण छुड़ाना चाहती है, मगर खुद ....

गोवा की फिश डिश

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on गोवा की फिश डिश
नए साल का आगाज बस होने ही वाला है। यही वह समय है, जब लोग गोवा की ओर भागते हैं। रोजाना की भागदौड़ गोवा के बीच पर जाकर छूमंतर हो जाती है। जिंदगी हसीन लगने लगती है आैर डिप्रेशन काफूर हो जाता है। गोवा अभी शाहरुख खान की फिल्म 'डियर जिंदगी' आैर क्रिकेटर युवराज सिंह की शादी के लिए भी खबरों में सबसे ऊपर रहा ....

सूना-सूना था गांधी आश्रम

Posted On December - 11 - 2016 Comments Off on सूना-सूना था गांधी आश्रम
गांधी जी के प्राइवेट सेक्रेटरी श्री महादेव देसाई वर्धा में मौजूद नहीं थे। उनकी जगह काम कर रहे थे श्री किशोरीलाल मशरूवाला। उनसे मिलकर गांधी जी के दर्शन की प्रार्थना करने पर उत्तर मिला कि कायदे से हमें पहले समय निश्चित कर लेना चाहिए था। अपनी गलती स्वीकार की और फिर भी प्रार्थना की कि बहुत दूर से आए हैं, फिर आ सकने के अवसर ....

गाती वायलिन नंदिनी की

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on गाती वायलिन नंदिनी की
तीन साल की नन्ही उम्र में ही नंदिनी शंकर का परिचय बेला यानी वायलिन से हुआ। उम्र भले ही छोटी थी, लेकिन बेला से निकलने वाली खूबसूरत ध्वनि से बाखूबी परिचित थीं नंदिनी। हो भी क्यों ना, संगीत के उच्च घराने से ताल्लुक रखने के कारण पैदा होते ही नंदिनी वायलिन की आवाज़ से हमसाज़ हो गयी थीं। ....

रोटी पहले कि भगवान?

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on रोटी पहले कि भगवान?
स्वयं वर्धा में जमनालाल जी बजाज का एक मंदिर है। सुना है कि बजाज जी ने अछूतों को अपने मंदिर में प्रवेश करने की आज्ञा दे दी है, परंतु अछूत लोग स्वयं ही मंदिर में नहीं जाते। जाते क्यों नहीं? इस प्रश्न का कुछ उत्तर नहीं मिला। या तो अछूत मंदिर में जाने का कोई लाभ नहीं समझते या उन्हें साहस नहीं होता। ....

केरल कुज़ीन

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on केरल कुज़ीन
मुझे याद है जब कुछ महीनों पहले हम लोग केरल की सैर पर गए थे तो किस तरह हमारे होटल वाले अंकल ने कहा था कि आप लोग यहां के चिप्स जरूर खरीदना। ....

इक ‘चतुर’ डायरेक्टर साहब

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on इक ‘चतुर’ डायरेक्टर साहब
प्रादुर्भाव (कहानी) भीष्म साहनी अफसरों का काम ‘मामले’ को निपटाना ही होता है। उसे चतुर होना होता है। उसे समय के हिसाब से चीजों को हैंडल करना होता है। फिर अगर सरकारी महकमों में बड़े ओहदे पर टिका रहना हो तो इस तरह की तेजी की ज्यादा जरूरत होती है। खासतौर पर सरकार का वह महकमा जहां ‘बुद्धिजीवियों’ का आना-जाना रहता हो और जहां की जरा सी गलती सीधे सरकार तक को कठघरे में खड़े कर सकने 

कालीन मखमली अहसास

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on कालीन मखमली अहसास
सर्दियों में घर की सजावट में कारपेट काफी अहम रोल अदा करते हैं। इन सर्दियों में आप भी घर को सजाएं क्लासी और कलरफुल कारपेट से। ये आपके घर को क्लासी लुक देने के साथ ही फ्लोर को रॉयल लुक देंगे। आजकल कारपेट में भी कई पैटर्न और रंग देखने को मिल रहे हैं। ....

जो भटक गए हैं राह से

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on जो भटक गए हैं राह से
कॉलेज के दिनों में विशाल ने शराब क्या चख ली, वह आहिस्ता-आहिस्ता सारे मादक द्रव्यों का लती बन गया। नशे की आदत से पीछा छुड़ाने के लिए उसे 20 साल का लंबा वक्त लगा। ....

नंगे पैर दौड़ें, याददाश्त बढ़ेगी

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on नंगे पैर दौड़ें, याददाश्त बढ़ेगी
आप कुछ समय नंगे पैर दौड़िये। मोटापा कम करने पर ध्यान दीजिये। आपकी याददाश्त तेज होगी। यह बात एक शोध के बाद कही गयी है। एक रिसर्च जर्नल में प्रकाशित शोध रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जिन लोगों में मोटापा बढ़ रहा हो तो उनकी याददाश्त कमजोर होती जाती है। ....

जाड़े में निंबुड़ा निंबुड़ा

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on जाड़े में निंबुड़ा निंबुड़ा
मौसम आ गया है कंपकंपाने वाला। धूप में बैठने का। ठंड है तो बचने के कई जतन करने का। विशेषज्ञ कहते हैं कि सर्दियों में हमारे शरीर को विटामिन डी तो पर्याप्त मिल जाता है, लेकिन उस अनुपात में विटामिन सी नहीं मिल पाता। ....

नज़ारों के साथ-साथ ‘विलेज वॉक’

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on नज़ारों के साथ-साथ ‘विलेज वॉक’
पूर्वी हिमालय में अरुणाचल प्रदेश के पहाड़ों की चोटी के बीच एक छोटा गांव थेमबांग है, जहां समय प्रवाहमान होकर भी ठहरा हुआ है। यहां के लोगों के लिए 1500 साल पुरानी बातें भी ऐसे ही हैं, मानो कल की बात हो। दिरखपा कुल के (मोनपा ट्राईब के) स्थानीय निवासी खुद को बापू राजाओं की संतान मानते हैं। ....

अपनी-अपनी लक्ष्मण रेखा

Posted On December - 4 - 2016 Comments Off on अपनी-अपनी लक्ष्मण रेखा
संविधान दिवस पर संविधान के विभिन्न अंगों की 'लक्ष्मण रेखा' को लेकर सार्वजनिक रूप से न्यायपालिका और कार्यपालिका के बीच हुयी खींचतान और टकराव की स्थिति ने 1972 में सुपर स्टार राजेश खन्ना अभिनीत फिल्म 'अमर प्रेम' के गीत 'चिंगारी कोई भड़के तो सावन उसे बुझाये, सावन जो अगन लगाये तो उसे कौन बुझाये' की याद ताजा कर दी। ....

मसालों में घुली-मिली थाई करी

Posted On November - 27 - 2016 Comments Off on मसालों में घुली-मिली थाई करी
हमारे यहां इन दिनों जिस सेलिब्रिटी से उनके खाने की पसंद पर सवाल करो, जवाब आता है-थाई। अब ये थाई व्यंजन भी भला किस तरह का होता है, इसमें क्या खास होता है कि सारे सेलिब्रिटीज थाई व्यंजन पसंद करते हैं। ....
Page 7 of 228« First...3456789101112...Last »

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.