मोदी और ट्रंप ने फोन पर की बातचीत !    साढ़ू को करोड़ों का फायदा पहुंचाने के मामले में केजरीवाल की मुशिकलें बढ़ीं !    विभाग किये छोटे, कर रही निजीकरण !    रिमी सेन भाजपा में, सनी देओल की भी चर्चा !    शिल्पा शेट्टी बोलीं-मुलाकात के बाद आया 'चैन' !    शाहरुख को देखने स्टेशन पर भगदड़, एक की मौत !    बुजुर्गों ने की सरकार की हाय-हाय !    गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में दिखेगा धनुष का ‘शौर्य’  !    यूपी में बहुमत तो बनेगा मंदिर : भाजपा !    सीबीआई की परीक्षा !    

संपादकीय › ›

फ़ीचर्ड न्यूज़
सुरक्षित सफर बना चुनौती

सुरक्षित सफर बना चुनौती

भारतीय रेल शशांक द्विवेदी एक तरफ केंद्र सरकार देश को बुलेट ट्रेन के सपने दिखा रही है वहीं दूसरी तरफ आये दिन रेल दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। अब आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में जगदलपुर से भुवनेश्वर जाने वाली हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। इस हादसे ...

Read More

अनुशासन संग स्वाभिमान भी जरूरी

अनुशासन संग स्वाभिमान भी जरूरी

सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने सेना दिवस के मौके पर जवानों को साफ निर्देश दिया है कि सोशल मीडिया पर अपने गिले-शिकवे दर्ज करना गलत है। ऐसे वीडियो डालने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। जनरल रावत ने यह हिदायत भी दी है कि जवानों को अपनी शिकायतें निर्धारित प्रक्रिया के ...

Read More

सीबीआई की परीक्षा

सीबीआई की परीक्षा

गंभीर है संस्थाओं की साख का संकट सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबीआई को अपने ही पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा के खिलाफ जांच के आदेश से साफ है कि प्रथम दृष्टया तो मामला बनता ही है। यह भी कि खुद एक निदेशक के संदेह और सवालों के घेरे में आ जाने के बावजूद ...

Read More

गांवों तक भी पहुंचे विकास

गांवों तक भी पहुंचे विकास

विवेक त्रिपाठी देश के विकास का रास्ता गांव की गलियों से होकर ही गुजरता है लेकिन आज भी गांवों में विकास अधूरा है। सरकार बनवाने में ग्रामीणों का विशेष योगदान होता है। लेकिन शायद ही चुनाव बाद गांव की तरफ कोई जनप्रतिनिधि रुख करता हो। वह पूरे पांच साल तक चुनाव ...

Read More

टैक्स में छूट से ही बचेंगे छोटे उद्योग

टैक्स में छूट से ही बचेंगे छोटे उद्योग

देश में रोजगार की स्थिति यूपीए के कार्यकाल से ही बिगड़ती आ रही है। लेबर ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2011 में 9 लाख रोजगार उत्पन्न हुए थे। 2013 में ये घटकर 4 लाख रह गये। 2015 में मात्र 1,35,000 रोजगार उत्पन्न हुए। वर्तमान में रोजगार सृजन की बिगड़ती ...

Read More

साइकिल संग हाथ

साइकिल संग हाथ

बहुमत की सवारी से ही बनेगी बात आखिरकार उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच चुनावी गठबंधन हो ही गया। अकसर तो हाथ ही साइकिल को थामता है, पर राजनीति की महिमा अपरंपार है। सो, साइकिल ने हाथ थाम लिया है। तमाम उतार-चढ़ावों के बाद सपा और कांग्रेस इस ...

Read More

आत्‍मविश्‍वास के बूते जीने की राह

आत्‍मविश्‍वास के बूते जीने की राह

अंतर्मन विकेश कुमार बडोला सामान्‍य जीवनयापन करते हुए व्‍यक्ति स्‍वयं से अधिक विचार-विमर्श नहीं करता। उसका वैचारिक मंथन केवल दैनिक आवश्‍यकताओं की वस्‍तुओं तथा उनके उपभोग की व्‍यवस्‍था करने तक सीमित रहता है। जहां जीवन में कठिनाई आई नहीं कि भविष्‍य की चिंता में सोच-सोचकर मनुष्‍य तन-मन से कमजोर होता जाता ...

Read More


  •  Posted On January - 24 - 2017
    हरियाणा में यकायक जाट आंदोलन के पुन: सरगर्म होने ने सभी को चौंकाया है। खासकर वे लोग सांसत में हैं,....
  • अनुशासन संग स्वाभिमान भी जरूरी
     Posted On January - 24 - 2017
    सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने सेना दिवस के मौके पर जवानों को साफ निर्देश दिया है कि सोशल मीडिया पर....
  • सुरक्षित सफर बना चुनौती
     Posted On January - 24 - 2017
    एक तरफ केंद्र सरकार देश को बुलेट ट्रेन के सपने दिखा रही है वहीं दूसरी तरफ आये दिन रेल दुर्घटनाएं....
  •  Posted On January - 24 - 2017
    चुनावों का बिगुल बजते ही सुनने में आया है कि वे फिर रूठ गए हैं। रूठना और मनाना भारतीय संस्कृति....

आपकी राय

Posted On January - 24 - 2017 Comments Off on आपकी राय
आरक्षण के लिए हरियाणा का जाट समूह एक बार फिर आंदोलन की तैयारी कर रहा है। आरक्षण के नाम पर की जाने वाली जोर-जबरदस्ती की राजनीति और ऐसे समय में प्रशासन की चूक कैसे दुष्परिणाम सामने लाती है, इसका परिचय हमें पिछले वर्ष के आंदोलन में मिल चुका है। ....

एकदा

Posted On January - 24 - 2017 Comments Off on एकदा
एक राजा धन-संपदा का ऐसा दीवाना था कि लोगों पर तरह-तरह के अत्याचार कर उनसे पैसा ऐंठता रहता था। एक बार गुरुनानक घूमते हुए उसके राज्य में पहुंचे। उन्होंने उसके महल के सामने कंकड़ों का ढेर जमा करना शुरू कर दिया। एक दिन किसी ने राजा को गुरुनानक के आने की सूचना दी। ....

सीबीआई की परीक्षा

Posted On January - 24 - 2017 Comments Off on सीबीआई की परीक्षा
सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबीआई को अपने ही पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा के खिलाफ जांच के आदेश से साफ है कि प्रथम दृष्टया तो मामला बनता ही है। यह भी कि खुद एक निदेशक के संदेह और सवालों के घेरे में आ जाने के बावजूद सर्वोच्च अदालत का सीबीआई पर विश्वास बरकरार है। ....

आपकी राय

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on आपकी राय
ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बन गए हैं। अमेरिका के शीर्ष उद्योगपतियों और धनी व्यक्तियों में इनका नाम शामिल है। अपने विवादित बयानों को लेकर वे चर्चा में रहे हैं। ट्रंप ने मुसलमानों को लेकर भी आपतिजनक बयान दिये हैं। ....

एकदा

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on एकदा
संत बहलोल जिस राज्य में रहते थे, वहां का शासक बेहद लालची और अत्याचारी था। एक बार वर्षा अधिक होने के कारण कब्रिस्तान की मिट्टी बह गई। कब्रों में हड्डियां आदि नजर आने लगीं। बहलोल कुछ खोपड़ियों को सामने रख उनमें से कुछ तलाश करने लगा। उसी समय बादशाह की सवारी उधर आ निकली। ....

तिरछी नज़र

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on तिरछी नज़र
दलबदल समय की मांग है, इसलिए हे चतुर खिलाड़ियों समय के स्वर को पहचानो और सही संभावनाएं जानो। जहां कंद मूल फल दिख रहे हों, छलांग लगा दो। वस्तुतः छलांग ही युग की मांग है। भरपूर छलांग लगाइए। ऊंची कूद हो या लंबी कूद। आपकी कूद आपके सामर्थ्य पर निर्भर करती है। सुबह तक आह दल में थे, शाम को बात नहीं बनी तो वाह ....

गांवों तक भी पहुंचे विकास

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on गांवों तक भी पहुंचे विकास
देश के विकास का रास्ता गांव की गलियों से होकर ही गुजरता है लेकिन आज भी गांवों में विकास अधूरा है। सरकार बनवाने में ग्रामीणों का विशेष योगदान होता है। लेकिन शायद ही चुनाव बाद गांव की तरफ कोई जनप्रतिनिधि रुख करता हो। वह पूरे पांच साल तक चुनाव लड़ने के बाद उन्हें भूल जाता है। कुछ विरले होते हैं जो अपने क्षेत्र में लगातार ....

टैक्स में छूट से ही बचेंगे छोटे उद्योग

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on टैक्स में छूट से ही बचेंगे छोटे उद्योग
देश में रोजगार की स्थिति यूपीए के कार्यकाल से ही बिगड़ती आ रही है। लेबर ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2011 में 9 लाख रोजगार उत्पन्न हुए थे। 2013 में ये घटकर 4 लाख रह गये। 2015 में मात्र 1,35,000 रोजगार उत्पन्न हुए। वर्तमान में रोजगार सृजन की बिगड़ती स्थिति का संकेत छोटे उद्योगों के हालात से मिल जाता है। देश में अधिकतम रोजगार ....

चुनावी रेवड़ियां

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on चुनावी रेवड़ियां
पार्टियों के चुनावी घोषणापत्रों में किए गए वादों से यह सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि भारतीय राजनीति का स्तर कहां पहुंच गया है। पंजाब विधानसभा चुनावों के लिए देश की बड़ी पार्टी भाजपा ने जालंधर में जारी अपने घोषणापत्र में सस्ती चीनी, घी तथा अन्य घरेलू सुविधाएं देने के वादे के साथ पंजाब के गरीब तबके को रिझाने की कोशिश की है। ....

साइकिल संग हाथ

Posted On January - 23 - 2017 Comments Off on साइकिल संग हाथ
आखिरकार उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच चुनावी गठबंधन हो ही गया। अकसर तो हाथ ही साइकिल को थामता है, पर राजनीति की महिमा अपरंपार है। सो, साइकिल ने हाथ थाम लिया है। तमाम उतार-चढ़ावों के बाद सपा और कांग्रेस इस पर सहमत हो गये हैं कि क्रमश: 298 और 105 सीटों पर चुनाव लड़ें। ....

जन संसद

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on जन संसद
बर्फबारी और प्रशासन महंगाई की मार बर्फबारी शुरू होते ही पर्यटक भारी तादाद में पहाड़ों का रुख करते हैंै। अधिक बर्फबारी के चलते वहां कई बार बिजली, पानी की दिक्कतें शुरू हो जाती हैं। बर्फ के कारण रास्ते बंद हो जाते हैं। ऐसे में आम उपभोग की वस्तुओं के दाम एकदम बढ़ जाते हैं। प्रशासन इन पर नकेल कसने में नाकाम रहता है और पर्यटक लुटने को मजबूर हो जाता है। ऐसे में  स्थानीय लोग भी लूटमारी 

एकदा

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on एकदा
पोरबन्दर के एक पंडित ने स्वामी विवेकानन्द से कहा-स्वामी जी, यहां भारत में धर्म के अनेक पंडित हैं, यहां आपकी बात कौन सुनेगा? आप विदेश जाएं। स्वामी विवेकानन्द अमेरिका गए। कुछ दिन भ्रमण करते उनकी जमा पूंजी खत्म हो गयी। एक व्यक्ति ने उन्हें बोस्टन जाने का किराया दिया और विश्व धर्म सम्मेलन के एक सदस्य के नाम पत्र भी। ....

तिरछी नज़र

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on तिरछी नज़र
खतरा तो वास्तविक है। वन रैंक,वन पेंशन पर वादाखिलाफी के लिए अगर सूबेदार रामकिशन आत्महत्या करते हैं तो शक यह किया जाता है कि दिमागी रूप से वह ठीक था या नहीं। उन पर कांग्रेसी होने का आरोप तो मंत्रीजी बन चुके जनरल साहब ने लगा ही दिया था। ....

आत्‍मविश्‍वास के बूते जीने की राह

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on आत्‍मविश्‍वास के बूते जीने की राह
सामान्‍य जीवनयापन करते हुए व्‍यक्ति स्‍वयं से अधिक विचार-विमर्श नहीं करता। उसका वैचारिक मंथन केवल दैनिक आवश्‍यकताओं की वस्‍तुओं तथा उनके उपभोग की व्‍यवस्‍था करने तक सीमित रहता है। जहां जीवन में कठिनाई आई नहीं कि भविष्‍य की चिंता में सोच-सोचकर मनुष्‍य तन-मन से कमजोर होता जाता है। ....

भारी पड़ सकती है ऐसी चूक

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on भारी पड़ सकती है ऐसी चूक
खादी संस्थान के वार्षिक कैलेंडर और डायरियों पर आज तक रिवायती तौर पर छपने वाले महात्मा गांधी के चित्र की जगह प्रधानमंत्री मोदी की फोटो देखना एक अप्रिय अनुभव है। बाकी कसर हरियाणा में भाजपा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के बयान ने पूरी कर दी, जब उन्होंने कहा, ‘मोदी गांधी से बेहतर युगपुरुष हैं।’ ....

अमेरिका में ट्रंप युग

Posted On January - 22 - 2017 Comments Off on अमेरिका में ट्रंप युग
अमेरिका में नये राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के शपथ ग्रहण के साथ ही नये युग का आगाज भी हो गया है। अमेरिका विश्व का प्राचीनतम लोकतंत्र है, और किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था में चुनाव के जरिये सत्ता परिवर्तन एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। इसके बावजूद अगर 70 वर्षीय ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने को एक नये युग के आगाज के रूप में देखा जा रहा है तो ....
Page 1 of 97912345678910...Last »

समाचार में हाल लोकप्रिय

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.